Last Updated : Jan 21 2019 11:35AM     Screen Reader Access
News Highlights
15th Pravasi Bhartiya Divas begins today at Varanasi in Uttar Pradesh            10% quota for EWS is in tune with govt's commitment to ensure development of all sections: Rajnath Singh            Army Chief calls for incorporating Artificial Intelligence, big data computing into defence system            Kumbh Mela: Second main bath being held on occasion of Paush Purnima            Egypt: Security forces kill 14 militants in operation in Sinai           

Text Bulletins Details


समाचार प्रभात

0800 HRS
15.08.2018
मुख्य समाचार
  • राष्ट्र आज 72वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ऐतिहासिक लालकिले के प्राचीर पर तिरंगा फहराया।
  • पचास करोड़ लोगों को स्वास्थ्य देखभाल सुविधा उपलब्ध कराने के लिए आयुष्मान भारत के तहत जन आरोग्य अभियान की घोषणा। 2022 से पहले भारतीयों को अंतरिक्ष में भेजने के लिए गगनयान परियोजना की भी घोषणा।
  • प्रधानमंत्री ने कहा-सरकार जम्मू कश्मीर में गोलियों और गालियों से नहीं बल्कि लोगों को गले लगाकर विकास करेगी।
  • श्री मोदी ने सबके लिए सामाजिक न्याय सुनिश्चित करने और तेजी से प्रगतिशील भारत के निर्माण की आवश्यकता पर बल दिया।
  • श्री मोदी ने महिला सशक्तीकरण पर बल दिया। अल्पकालिक सेवा के जरिए सशस्त्र बलों में नियुक्त महिलाओं को पुरूषों के समान अवसर उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • प्रधानमंत्री ने मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक प्रथा समाप्त करने के लिए पूरे प्रयासों का आश्वासन दिया।
  • राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्र निर्माण की राह में मौजूदा खाई पाटने के लिए नए सिरे से संकल्प का आह्वान किया।
  • रक्षामंत्री निर्मला सीतारामण ने सशस्त्र बलों को किसी भी खतरे से निपटने के लिए हमेशा तैयार रहने को कहा।

--------

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि सबके लिए सामाजिक न्याय सुनिश्चित करने और तेजी से प्रगतिशील भारत के निर्माण की आवश्यकता है। आज 72वें स्वाधीनता दिवस पर श्री मोदी ने ऐतिहासिक लालकिले के प्राचीर से राष्‍ट्रध्‍वज फहराया और राष्‍ट्र को संबोधित किया। इस अवसर पर 21 तोपों की सलामी दी गई और नौसेना बैंड ने राष्‍ट्रगान की धुन प्रस्‍तुत की। ध्‍वजारोहण समारोह में 700 एनसीसी कैडेटों ने भाग लिया और देशभक्ति गीतों तथा राष्‍ट्रगान की प्रस्‍तुति में अन्‍य स्‍कूली बच्‍चों का साथ दिया।

--------

प्रधानमंत्री ने कहा कि सामान्‍यजन को आरोग्‍य की सुविधा देने के लिए प्रधानमंत्री जन आरोग्‍य योजना चलाई जाएगी।

योजना को आगे बढ़ाने के लिए25 सितंबर पंडित दीन दयाल उपाध्याय की जन्म जयंती पर पूरे देश में यह प्रधानमंत्री जन आरोग्य अभियान लांच कर दिया जाएगा और उसका परिणाम यह होने वाला है कि देश के गरीब व्यक्ति में अब बीमारी के संकट से जूझना नहीं पड़ेगा। उसको साहूकार से पैसा ब्याज से नहीं लेना पड़ेगा। उसका परिवार तबाह नहीं हो जाएगा और देश में भी मध्यमवर्गीय परिवारों के लिएनौजवानों के लिए आरोग्य के क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर खुलेंगे।

--------

प्रधानमंत्री ने कहा कि 2022 में जब देश स्वतंत्रता का 75वां साल मनाएगा तब माँ भारती की कोई संतान अंतरिक्ष में तिरंगे के साथ जाएगी।

अब हम मानव सहित गगनयान ले करके चलेंगे और ये गगनयान जब अंतरिक्ष में जाएगाहिंदुस्तानी ले करके जाएगा हिंदुस्तान के वैज्ञानिकों के द्वारा हुआ। हिंदुस्तान के पुरुषार्थ के द्वारा हुआ होगातब विश्व के अंदर हम चौथे देश बन जाएंगे जो मानव को अंतरिक्ष में पहुंचाने वाले बन जाएंगे। 

--------

श्री मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के इंसानियत, जम्‍हूरियत और कश्‍मीरियत के मूल मंत्र को याद किया और कहा कि कश्‍मीर का विकास गोली और गाली के रास्‍ते से नहीं, बल्कि उन्‍हें गले लगाकर करना होगा।

वाजपेयी जी ने कहा था इंसानियतजमहूरियत और कश्मीरियत इन तीन मूल्य मुद्दों को लेकरके हम कश्मीर के विकास लिए चाहे लद्दाख होचाहे जम्मू हो या श्रीनगर वेली होसंतुलित विकास होसमान विकास होवहां के सामान्य मानव की आशाआकांक्षाओँ को पूर्ण हो। इंफ्रास्ट्रक्चर को बल मिले और साथ-साथ जन-जन को गले लगाकरके चले हम। भाव के साथ हम आगे बढ़ना चाहते। हम गोली और गाली के रास्ते पर नहींगले लगाकरके मेरे कश्मीर के देश भक्ति से जीने वाले लोगों के साथ आगे बढ़ना चाहते हैं।

--------

प्रधानमंत्री ने कहा कि महिलाओं का सम्मान जीने का सही रास्ता है और हमें हर परिवार में ये संस्कार देने होंगे।

उन्होंने तीन तलाक विधेयक का जिक्र करते हुए कहा कि मुस्लिम बेटियों को यह विश्वास दिलाना चाहता हूं हमने इस सत्र में आपके लिये न्याय का बीड़ा उठाया था लेकिन कुछ लोग इसे पारित नहीं होने देना चाहते। मैं विश्वास दिलाना चाहता हूं कि आपकी आकांक्षा पूरी करके रहूंगा।

तीन तलाक की कुरीती ने हमारे देश की मुस्लिम बेटियों की जिंदगी को तबाह करके रखा हुआ है और जिनको तलाक नहीं मिला है वो भी इस दबाव में गुजारा कर रही हैं। इस सत्र में भी हमने पार्लियामेंट में कानून ला करके हमारी इन महिलाओँ को इन कुरीतियों से मुक्ति दिलाने का बीड़ा उठाया है लेकिन अभी भी कुछ लोग हैजो इसे पारित नहीं होने देते हैंलेकिन मैंमेरे देश की इन पीड़ित माताओं-बहनोंमेरी मुस्लिम बेटियों को मैं विश्वास दिलाता हूं कि मैं उनके न्याय के लिएउनके हक के लिए आपके आशा आकांक्षाओं को पूर्ण करके रहूंगा।

--------

प्रधानमंत्री ने कहा कि संसद का सत्र पूरी तरह सामाजिक न्‍याय को समर्पित रहा। उन्‍होंने कहा कि इस बार संसद ने पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देकर उनके अधिकारों की रक्षा की।

संसद के ये सत्र पूरी तरह सामाजिक न्याय को समर्पित थे। दलित होपीड़ित होशोसित होवंचित होमहिलाएं होंउनकी रक्षा करने के लिए हमारी संसद ने संवेदनशीलता और सजकता के साथ सामाजिक न्याय को और अधिक बलवत्तर  बनाया। ओबीसी आयोग को सालों से संवैधानिक स्थान के लिए मांग उठ रही थी। इस बार संसद ने पिछड़े-अति पिछड़ों कोउस आयोग को संवैधानिक दर्जा देकरकेएक संवैधानिक व्यवस्था देकरके उनकी हितों की रक्षा करने का प्रयास किया।

--------

अज्ञात शहीदों और क्रांतिकारियों के बलिदान को नमन करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जलियांवाला बाग के शहीद और देश के वीर त्‍याग और बलिदान की प्रेरणा देते हैं। राष्‍ट्र कवि सुब्रमण्‍यम भारती के शब्‍दों को भी प्रधानमंत्री ने उद्धृत किया।

सुब्रमण्यम भारती ने अपने सपनों को शब्दों में पिरोया था। और उन्होंने लिखा थाऐलारूम अमरनील एडूनन............. यानी की सुब्रमण्यम भारती ने कहा था भारत पूरी दुनिया को हर तरह के बंधनों से मुक्ति पाने का रास्ता दिखाएगा।

--------

श्री मोदी ने घोषणा की कि सेना में अल्पकालिक सेवा की महिला अधिकारियों को पुरुष सैन्य अधिकारियों की तरह स्थायी कमीशन के अवसर दिए जाएंगे।
महिला सुरक्षा के मुद्दे पर श्री मोदी ने कहा कि समाज और देश को दुष्कर्म की अपमानजनक मानसिकता से मुक्त करने की जरूरत है।

--------

श्री मोदी ने कहा कि महापुरुषों तथा आज़ादी के सेनानियों के सपनों को पूरा करने के लिए बाबासाहेब भीमराव आम्‍बेडकर के नेतृत्‍व में समावेशी संविधान बनाया गया। उन्‍होंने कहा कि ये संविधान नए भारत का संकल्‍प लेकर आया। श्री मोदी ने कहा कि हमारा संविधान सभी का मार्गदर्शन कर रहा है।

आजादी के सेनानियों की इच्छाओं को परिपूर्ण करने के लिए देश के कोटि-कोटि जनों के आशा-आकांक्षाओँ को पूर्ण करने के लिए आजादी के बाद पूज्य बाबासाहेब आम्बेडकरजी के नेतृत्व में भारत ने एक समावेशी संविधान का निर्माण किया। यह हमारा समावेशी संविधान निर्माण हमारे लिए कुछ जिम्मेवारियां लेकरके लाया है। हमारे लिए सीमारेखाएं तैर करके आया है। हमारे सपनों को साकार करने के लिए समाज के हर वर्ग कोहर तबके कोभारत के हर भू-भाग को समान रूप से अवसर मिले आगे ले जाने के लिएउसके लिए हमारा संविधान हमे मार्गदर्शन करता रहा है।

--------

प्रधानमंत्री ने कहा कि सबका साथ, सबका विकास, कोई भाई-भतीजावाद नहीं, कोई मेरा-तेरा नहीं। हम यह लक्ष्य लेकर चलते हैं। मैं उन संकल्पों को दोहराता हूं। हर किसी का घर हो, धुएं से मुक्ति मिले, हर किसी के पास बिजली हो, पानी हो शौचालय मिले, कुशलता मिले, अच्छा स्वास्थ्य मिले।

हर भारतीय के पास अपना घर होहाउस थिंग्स फॉर ऑलहर घर के पास बिजली कनेक्शन होपावर फॉर ऑलहर भारतीय को धुएं से मुक्ति मिले रसोई में और इसलिए कुकिंग फॉ़र ऑलहर भारतीयों को जरूरत के मुताबिक जल मिले और इसलिए वाटर फॉर ऑलहर भारतीय को शौचालय मिले और इसलिए सैनिट्रेशन फॉर ऑलहर भारतीय कुशलता मिले और इसलिए स्कील फॉर ऑलहर भारतीय को अच्छी और सस्ती स्वास्थ्य सेवाएं मिले इसलिए हेल्थ फॉर ऑलहर भारतीय को सुरक्षा मिले और इसलिए सुरक्षा का बीमासुरक्षा कवच मिले और इसलिए इंश्योरेंस फॉर ऑलहर भारतीय को इंटरनेट की सेवा मिलेइसलिए और कनेक्टविटी फॉर ऑल इस मंत्र को लेकरके हम देश को आगे बढ़ाने चाहते हैं।

--------

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन के अंत में स्कूली बच्चों के साथ जय हिंद का तीन बार उद्घोष किया और मंच से नीचे उतरकर स्कूली बच्चों से मिले।

भारत माता की जय, भारत माता की जय, भारत माता की जय

वन्दे मातरम-वन्दे मातरम-वन्दे मातरम

ये समाचार हमारी वेबसाइट news on air.nic.in पर भी उपलब्ध हैं।

--------

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने लोगों से राष्ट्र निर्माण की राह में मौजूदा खाई को पाटने के लिए नए सिरे से संकल्प का आह्वान किया। स्‍वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्‍या पर संबोधन में कल राष्‍ट्रपति ने कहा कि इस वर्ष का स्वाधीनता दिवस और भी विशेष है क्‍योंकि कुछ ही सप्‍ताह बाद, दो अक्तूबर से महात्‍मा गांधी की 150 वीं जयंती समारोह शुरू हो जाएंगे।

कुछ ही सप्ताह बाद दो अक्टूबर से महात्मा गांधी की150वीं जयंती के समारोह शुरू हो जाएंगे। गांधी जी ने केवल हमारे स्वाधीनता समारोह का नेतृत्व ही नहीं किया था बल्कि वह हमारे नैतिक पथ प्रदर्शक भी थे और सदैव रहेंगे। 

--------

रक्षामंत्री निर्मला सीतारामन ने कल स्‍वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्‍या पर सशस्‍त्र सेनाओ के जवानो को संबोधित किया। उन्‍होंने कहा कि देश को अपने सैनिकों पर गर्व है। रक्षा मंत्री ने उनसे पूरी शक्ति के साथ देश की सीमाओं की रक्षा करने और किसी भी आक्रमण से निपटने के लिए हमेशा तैयार रहने को कहा।

रक्षामंत्री ने कहा कि लगभग दो लाख बुलेटप्रूफ जैकेट खरीदने की प्रक्रिया जारी है।

--------

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 21 (Jan) Midday News 20 (Jan) News at Nine 20 (Jan) Hourly 21 (Jan) (1005hrs)
समाचार प्रभात 21 (Jan) दोपहर समाचार 20 (Jan) समाचार संध्या 20 (Jan) प्रति घंटा समाचार 21 (Jan) (1100hrs)
Khabarnama (Mor) 21 (Jan) Khabrein(Day) 20 (Jan) Khabrein(Eve) 20 (Jan)
Aaj Savere 21 (Jan) Parikrama 20 (Jan) Lok Ruchi Samachar 20 (Jan)

Listen Programs

Market Mantra 20 (Jan) Samayki 20 (Jan) Sports Scan 20 (Jan) Spotlight/News Analysis 20 (Jan)
    Public Speak

    Country wide 17 (Jan) Surkhiyon Mein 17 (Jan) Charcha Ka Vishai Ha 16 (Jan) Vaad-Samvaad 15 (Jan) Money Talk 15 (Jan) Current Affairs 18 (Jan)