A- A A+
Last Updated : Jan 19 2020 11:11PM     Screen Reader Access
News Highlights
PM Modi to interact with school students in 'Pariksha Pe Charcha-2020' programme tomorrow            Nine Union Ministers meet people in Jammu division; seek feedback on development initiatives, schemes            Centre to spend over Rs100 lakh cr on infrastructure in next five years: Nirmala Sitharaman            Pirates release 19 Indians kidnapped from commercial vessel off western coast of Africa            3rd ODI: India defeat Australia by 7 wickets; clinch series 2-1           

Text Bulletins Details


समाचार संध्या

2045 HRS
14.08.2019
मुख्य समाचार :-

  • राष्‍ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा कि जम्‍मू कश्‍मीर और लद्दाख में हाल ही में किए गए परिवर्तनों से इन क्षेत्रों को बहुत लाभ होगा। स्‍वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्‍या पर अपने संबोधन में राष्‍ट्रपति ने प्रगति के लिए बुनियादी सेवाओं के विकास पर जोर दिया। 

  • भारत कल अपना 73 वां स्‍वतंत्रता दिवस मनायेगा। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी लाल किले की प्राचीर से राष्‍ट्र को संबोधित करेंगे।

  • जम्‍मू-कश्‍मीर में स्थिति कुल मिलाकर शांतिपूर्ण।

  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा-किसी भी स्थिति से निपटने के लिए भारत को प्रौद्योगिकी में आगे बढ़ना जरूरी होगा।

  • वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान वीर चक्र से सम्‍मानित। सशस्‍त्र बलों के जवानों के लिए 132 शौर्य पुरस्‍कारों की घोषणा।

  • क्रिकेट में वेस्‍टइंडीज ने भारत के साथ तीसरे और अंतिम एक दिवसीय मैच में टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी का फैसला किया।

--------

राष्‍ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा है कि जम्‍मू कश्‍मीर और लद्दाख में हाल ही में किए परिवर्तनों से इन क्षेत्रों को बहुत लाभ होगा। उन्‍होंने कहा कि इससे वहां के लोगों को देश के अन्‍य भागों के नागरिकों की तरह अधिकार, सुविधाएं और विशेषाधिकार मिलेंगे।


जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लिए हाल ही में किए गए बदलावों से वहां के निवासी बहुत अधिक लाभान्वित होंगे। वे भी अब उन सभी अधिकारों और सुविधाओं का लाभ उठा पाएंगे जो देश के दूसरे क्षेत्रों में रहने वाले नागरिकों को मिलती हैं।


73-वें स्‍वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्‍या पर अपने संबोधन में राष्‍ट्रपति ने कहा कि भारत एक बहुत ही विशेष मोड़ पर अपनी आजादी के 72 वर्ष पूरे कर रहा है। श्री कोविंद ने कहा कि देश को आजादी दिलाने वाली महान पीढ़ी ने केवल राजीनतिक अधिकार हासिल करने के बारे में ही नहीं सोचा था, बल्कि उन्‍होंने इसे राष्‍ट्र निर्माण और राष्‍ट्रीय एकता की दूरगामी और व्यापक प्रक्रिया की ओर बढ़ता कदम माना था।


राष्‍ट्रपति ने हाल में संपन्‍न संसदीय सत्र पर प्रसन्नता व्‍यक्‍त की। लोक सभा और राज्‍य सभा दोनों ही सदनों में लम्‍बी निर्णायक बैठकें हुईं। उन्‍होंने कहा कि कई महत्वपूर्ण विधेयक पारित किये गये और सभी दलों की ओर से सहयोग मिला तथा मुद्दों पर सकारात्‍मक चर्चा की गयी।


मुझे इस बात की प्रसन्‍नता है कि संसद के हाल ही में संपन्न हुए सत्र में लोकसभा और राज्यसभा, दोनों ही सदनों की बैठकें बहुत सफल रही हैं। राजनीतिक दलों के बीच परस्‍पर सहयोग के जरिए, कई महत्वपूर्ण विधेयक पारित किए गए हैं। इस सफल शुरुआत से मुझे यह विश्वास हो रहा है कि आने वाले पांच वर्षों के दौरान संसद, इसी तरह से उपलब्धियां हासिल करती रहेगी। मैं चाहूंगा कि राज्यों की विधानसभाएं भी संसद की इस प्रभावी कार्य संस्कृति को अपनाएं।


राष्‍ट्रपति ने स्पष्ट किया कि भारत कभी भी आलोचनात्मक समाज नहीं रहा। उन्‍होंने कहा कि भारत हमेशा जीओ और जीने दो के सिद्धांत को मानता रहा है। उन्‍होंने यह भी कहा कि भारत का इतिहास, नियति, धरोहर और उसका भविष्‍य सभी में सह-अस्तित्‍व, सुलह-सफाई और मेलजोल का आधार है।


देश के युवाओं के बारे में श्री कोविंद ने कहा कि हम युवाओं और भावी पीढ़ियों को जो सबसे बड़ा उपहार दे सकते हैं वह है -उन्‍हें प्रोत्‍साहित करना तथा उन्हें शिक्षा की कक्षाओं में जिज्ञासु बनाना।


श्री कोविंद ने समाज में आधारभूत सुविधाओं का सभी के लिए प्रयोग करने और उन्‍हें अधिक प्रभावी बनाने के महत्‍व पर भी बल दिया।


देशवासियों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए, सरकार अनेक बुनियादी सुविधाएं प्रदान कर रही है। गरीब से गरीब लोगों के लिए घर बनाकर और हर घर में बिजली, शौचालय तथा पानी की सुविधा देकर, सरकार बुनियादी ढांचे को मजबूत बना रही है। हर देशवासी के घर में नल के जरिए पीने का पानी पहुंचाने, किसान भाई-बहनों को सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराने और देश में कहीं बाढ़ तो कहीं सूखे की समस्या का प्रभावी समाधान करने के लिए जल-शक्ति के सदुपयोग पर विशेष बल दिया जा रहा है।


राष्‍ट्रपति ने इस बात पर जोर दिया कि आधारभूत ढांचों से लाभान्वित होना और इन्‍हें सुरक्षित रखना, कड़ी मेहनत से प्राप्‍त आजादी का एक दूसरा पहलू होगा।

--------

राष्‍ट्र कल 73 वां स्‍वतंत्रता दिवस मनाएगा। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी लालकिले की प्राचीर से राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहराएंगे और राष्‍ट्र को संबोधित करेंगे। राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में सुरक्षा व्‍यवस्‍था कड़ी कर दी गई है। हमारे संवाददाता ने बताया है कि लालकिले के आसपास राष्‍ट्रीय सुरक्षा गार्ड के स्‍नाइपर और स्‍वात कमांडो समेत बहुस्‍तरीय सुरक्षा व्‍यवस्‍था की गई है।


दिल्‍ली पुलिस के विशेष दस्‍ते और अर्द्धसैनिक बलों के कर्मचारी पार्किंग स्‍थलों पर कड़ी निगरानी रख रहे हैं। व्‍यापक सुरक्षा तैनाती के हिस्‍से के रूप में स्‍नीफर कुत्‍ते भी लगाये गये हैं। समारोह स्‍थल पर प्रधानमंत्री के भाषण के दौरान वरिष्‍ठ मंत्रियों, शीर्ष अधिकारियों, विदेशी प्रतिनिधियों और नागरिकों की उपस्थिति के मद्देनजर सी सी टी वी कैमरे लगाये गये हैं। दिल्‍ली पुलिस कर्मियों को लाल किले के आसपास आकाश की विशेष रूप से निगरानी रखने को कहा गया है। एक उत्‍सव का माहौल हर ओर नजर आ रहा है। लोग देश भक्ति की भावना से ओत-प्रोत नजर आ रहे हैं। सुपर्णा सैकिया के साथ दिल्‍ली से अतहर सईद।


दिल्‍ली यातायात पुलिस ने स्‍वाधीनता दिवस समारोह को देखते हुए परामर्श जारी किया है। लालकिले की ओर जाने वाले सात प्रमुख मार्गों पर सवेरे चार बजे से दिन में 10 बजे तक यातायात बंद रहेगा।

--------

जम्‍मू कश्‍मीर में स्थिति में सुधार हो रहा है। राज्‍य सरकार के प्रवक्‍ता रोहित कंसल ने श्रीनगर में पत्रकारों को बताया‍ कि राज्‍य में कुल मिलाकर स्थिति शान्‍ति‍पूर्ण है। घाटी सहित राज्‍य के‍ किसी भी भाग से किसी अप्रिय घटना का समाचार नहीं है।


कुल मिलाकर स्थिति शांतिपूर्ण है। कहीं से किसी बड़ी घटना की कोई खबर नहीं। जैसा कि हमने सवेरे कहा था कि उड़ाने, राष्‍ट्रीय राजमार्ग, आवश्‍यक वस्‍तुओं की आपूर्ति, चिकित्‍सा सुविधाएं और बिजली तथा पानी की सप्‍लाई सामान्‍य है।


प्रवक्‍ता ने बताया कि श्रीनगर शहर सहित कश्‍मीर घाटी के विभिन्‍न भागों में पाबंदियों में ढील दी गयी थी। इस दौरान स्थिति शान्तिपूर्ण बनी रही। उन्‍होंने कहा कि कल कुछ पाबंदियां लागू हो सकती हैं लेकिन जो लोग स्‍वतंत्रता दिवस समारोह देखने के लिए आमंत्रित‍ किये गये हैं उन्‍हें समारोह स्‍थल तक पहुंचाने की व्‍यवस्‍था की जायेगी। हमारे संवाददाता ने सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया है कि स्‍थानीय स्थिति की समीक्षा के बाद और राहत दी जाएगी।


कश्‍मीर घाटी में आवश्‍यक वस्‍तुओं की कोई कमी नहीं है। इसके अतिरिक्‍त अस्‍पतालों और अन्‍य नागरिक सुविधाएं भी लोगों को सामान्‍य तौर पर उपलब्‍ध करवाई जा रही हैं। जम्‍मू-कश्‍मीर पीपुल्‍स मूवमेंट के नेता शाह फैसल की गिरफ्तारी की खबरों के बारे में उन्‍होंने कहा कि स्‍थानीय तौर पर कानून व्‍यवस्‍था की समीक्षा के पश्‍चात ही कोई भी गिरफ्तारी अथवा नजरबंदी आवश्‍यकता होने पर ही की जाती है। इस अवसर पर उपस्थित पुलिस के अतिरिक्‍त महानिदेशक एस जे एम गिलानी ने स्‍वीकार किया कि कुछ नजरबंदियां सार्वजनिक सुरक्षा कानून के अंतर्गत ऐहतियात के तौर पर की गई हैं। आकाशवाणी समाचार के लिए जम्‍मू-कश्‍मीर से आर.के.रैना।

--------

जम्‍मू कश्‍मीर के राज्‍यपाल सत्‍यपाल मलिक कल श्रीनगर के शेर-ए-कश्‍मीर स्‍टेडियम में आयोजित मुख्‍य स्‍वतंत्रता दिवस समारोह में राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहरायेंगे। ध्‍वजारोहण समारोह के लिए सभी प्रबंध पूरे कर लिये गये हैं। राज्‍यपाल के प्रवक्‍ता रोहित कंसल ने आज श्रीनगर में पत्रकारों को ये जानकारी दी।

--------

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारत को अंतरिक्ष और साइबर जगत में हो रहे तकनीकी प्रगति से कदम मिलाकर चलने के लिए तैयार रहना होगा। उन्‍होंने दोहराया कि भारत की रक्षा नीति क्षेत्रीय, महाद्विपीय और वैश्‍विक स्‍तर पर शान्ति और स्थिरता बनाये रखने की है। रक्षा मंत्री ने कहा कि स्‍वदेशीकरण को बढ़ावा देने के लिए मेक इन इंडिया के तहत रक्षा सामग्री के निर्माण में निजी क्षेत्र की भागीदारी के बढावा देने के प्रयास किये जा रहे हैं।


बदलते वैश्विक परिदृश्‍य में रणक्षेत्र सिर्फ जल, थल, वायु तक सीमित नहीं रहेंगे, बल्कि स्‍पेस और साइबर-स्‍पेस में भी इनका विस्‍तार होगा ही। इसलिए भारत को टेक्‍नोलॉजि‍कल ऐज बनाए रखते हुए किसी भी संभाविक घटना के लिए तैयार रहना होगा।


रक्षामंत्री स्‍वतंत्रता‍ दिवस की पूर्व संध्‍या पर आज नई दिल्‍ली में रक्षाबलों को सम्‍बोधित कर रहे थे। राजनाथ सिंह ने सैनिकों को आश्‍वासन दिया कि सरकार उनका मनोबल ऊंचा बनाये रखने के लिए जो कुछ जरूरी होगा, करेगी।

--------

आकाशवाणी का समाचार सेवा प्रभाग, आज अपने साप्‍ताहिक कार्यक्रम चर्चा का विषय है के अंतर्गत 73-वें स्‍वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्‍या पर राष्‍ट्रपति के संबोधन पर परिचर्चा प्रसारित करेगा। इसे रात साढ़े नौ बजे से आकाशवाणी के एफ. एम. गोल्ड चैनल, इन्द्रप्रस्थ और अतिरिक्त मीटरों पर सुना जा सकेगा।

--------

भारतीय वायुसेना के विंग कमाण्‍डर अभिनंदन वर्द्धमान को स्‍वतंत्रता दिवस पर वीरचक्र से सम्‍मानि‍त किया जाएगा। अभिनंदन ने पाकिस्‍तानी वायुसेना के एफ-16 जेट विमान को मार गिराया था।


राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सशस्‍त्र बलों के कार्मिकों और अर्द्धसैनिक बलों के सदस्‍यों को 132 पुरस्‍कार देने की मंजूरी दी। इनमें दो कीर्ति चक्र, एक वीर चक्र, 14 शौर्य चक्र, सेना के लिए आठ पदक, 90 सेना पदक, पांच नौसेना पदक, सात वायुसेना पदक और पांच युद्ध सेवा पदक शामिल हैं।

--------

स्‍वतंत्रता दिवस के अवसर पर 946 पुलिस कर्मियों को पदक दिए जाएंगे। वीरता के लिए राष्‍ट्रपति पुलिस पदक तीन कर्मियों को, 177 कर्मियों को पुलिस शौर्य पदक और 89 कर्मियों को उल्‍लेखनीय सेवा के लिए राष्‍ट्रपति पुलिस पदक प्रदान किए गए हैं। 677 कर्मियों को उल्‍लेखनीय सेवा के लिए पुलिस पदक दिए गए हैं।

--------

पोर्ट ऑफ स्‍पेन में भारत और वेस्‍टइंडीज के बीच तीसरे और अंतिम एकदिवसीय क्रिकेट मैच में वेस्‍टइंडीज ने ताजा समाचार मिलने तक 20 ओवर में 2 विकेट पर 148 रन बना लिए हैं। टॉस जीतकर वेस्‍टइंडीज ने पहले बल्‍लेबाजी करने का फैसला किया।


एकदिवसीय क्रिकेट मैचों के बाद दोनों टीमें 22 अगस्‍त से दो टेस्‍ट मैच खेलेंगी। ये दोनों मैच नॉर्थ साउंड और एंटीगा में खेले जाएंगे।

--------

आर्थिक जगत -

बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज का सेंसेक्‍स आज तीन सौ 53 अंक बढ़कर 37 हजार तीन सौ 12 पर बंद हुआ। नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज का निफ्टी एक सौ चार अंक बढ़त के साथ 11 हजार 29 दर्ज हुआ। अंतर बैंकिंग विदेशी मु्द्रा बाजार में एक डॉलर की तुलना में रूपया 13 पैसे मजबूत होकर 71 रूपये 27 पैसे के स्‍तर पर पहुंच गया।

--------

चन्‍द्रयान -2 पृथ्‍वी की कक्षा से सीधे चन्‍द्रमा की ओर बढ चला है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो के वैज्ञानिकों ने आज तड़के 2 बजकर 21 मिनट पर करीब 20‍ मिनट की प्रक्रिया में चन्‍द्रयान को पृथ्‍वी की कक्षा से बाहर निकाल कर चन्‍द्रमा की ओर भेज दिया। 


चन्‍द्रयान 2 इस महीने की 20 तारीख को चन्‍द्रमा की कक्षा में पहुंचेगा।

--------

केन्‍द्रीय प्रत्‍यक्ष कर बोर्ड सीबीडीटी ने कहा है कि पहली अक्‍टूबर से कर विभाग द्वारा करदाताओं के साथ किये गये सभी पत्राचार में दस्‍तावेज पहचान संख्‍या डीआइएन अंकित होगी। बोर्ड ने कहा है कि डीआइएन का जारी करना करदाताओं की बेहतर सेवा की ओर बढ़ाया गया एक और कदम है। इसके साथ ही सरकारी कार्य व्‍यवहार की जवाबदेही भी सुनिश्चित होगी।

--------

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 19 (Jan) Midday News 19 (Jan) News at Nine 19 (Jan) Hourly 19 (Jan) (2300hrs)
समाचार प्रभात 19 (Jan) दोपहर समाचार 19 (Jan) समाचार संध्या 19 (Jan) प्रति घंटा समाचार 19 (Jan) (2305hrs)
Khabarnama (Mor) 19 (Jan) Khabrein(Day) 19 (Jan) Khabrein(Eve) 19 (Jan)
Aaj Savere 19 (Jan) Parikrama 19 (Jan)

Listen Programs

Market Mantra 19 (Jan) Samayki 19 (Jan) Sports Scan 19 (Jan) Spotlight/News Analysis 19 (Jan) Samachar Darshan 19 (Jan) Radio Newsreel 18 (Jan)
    Public Speak

    Country wide 19 (Dec) Surkhiyon Mein 19 (Dec) Charcha Ka Vishai Ha 15 (Jan) Vaad-Samvaad 14 (Jan) Money Talk 14 (Jan) Current Affairs 17 (Jan)
  • Money Matters 19 (Jan)
  • International News 17 (Jan)
  • Press Review 19 (Jan)
  • From the States 18 (Jan)
  • Let's Connect 19 (Jan)
  • 360°- Ek Parivesh 19 (Jan)
  • Know Your Constitution 19 (Jan)
  • Ek Bharat Shreshta Bharat 19 (Jan)
  • Sanskriti Darshan 19 (Jan)
  • Fit India New India 18 (Jan)