A- A A+
Last Updated : Feb 21 2020 2:59PM     Screen Reader Access
News Highlights
Around 300 rural clusters developed under Shyama Prasad Mukherji National Rurban Mission            Prez Trump says he likes PM Modi & two leaders to hold talks on broad gamut of relations during his upcoming visit            Centre reiterates convicts in Rajiv Gandhi assassination case cannot be released without its approval            FATF to take a final call on whether to keep Pakistan in its Grey list at its meeting in Paris            ICC T20 Women's World Cup: Match between India, Australia underway           

Text Bulletins Details


समाचार संध्या

2045 HRS
26.01.2020
मुख्य समाचार:-

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा - हिंसा से किसी भी समस्‍या का समाधान नहीं हो सकता। हिंसा का सहारा लेकर समाधान चाहने वालों से मुख्‍यधारा में लौटने का आह्वान किया।

  • आकाशवाणी से मन की बात कार्यक्रम में श्री मोदी ने कहा - पूर्वोत्‍तर में ब्रू-रियांग समुदाय के साथ हुआ समझौता सहकारिता संघवाद की भावना को दर्शाता है।

  • राष्‍ट्र आज 71वां गणतंत्र दिवस देशभक्ति और उत्‍साह के साथ मना रहा है। दिल्‍ली में राजपथ पर देश की सैन्‍य शक्ति और सांस्‍कृतिक विविधता का भव्‍य प्रदर्शन किया गया। पहली बार सी.आर.पी.एफ. की महिला बाइकर्स ने साहसपूर्ण करतबों से दर्शकों को मंत्रमुग्‍ध कर दिया।

  • भारतीयता की भावना को अभिव्‍यक्‍त करने वाला, सप्‍ताहभर का भारत पर्व - 2020 लालकिला प्रांगण में आज से शुरू।

  • भारत ने ऑकलैंड में दूसरे ट्वेंटी-ट्वेंटी अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट मैच में न्‍यूज़ीलैंड को सात विकेट से हराया।

..........

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि हिंसा से किसी भी मुद्दे का समाधान नहीं हो सकता। उन्‍होंने कहा कि हिंसा का सहारा लेकर कोई दूसरी समस्‍या खड़ी करने से बेहतर है कि मुद्दों को शांतिपूर्वक सुलझाने की कोशिश की जाए। श्री मोदी ने हिंसा का सहारा लेकर समाधान चाहने वालों से मुख्‍यधारा में लौटने का आह्वान किया। आकाशवाणी पर अपने मासिक कार्यक्रम मन की बात की 61वीं कड़ी में उन्‍होंने कहा कि कुछ दिन पहले असम में आठ उग्रवादी गुटों के 644 उग्रवादियों ने अपने हथियारों के साथ समर्पण किया। पिछले साल त्रिपुरा में भी 80 से अधिक लोगों ने हिंसा का रास्‍ता छोड़ा। श्री मोदी ने कहा कि जिन्‍होंने समस्‍याओं को सुलझाने के लिए हथियार उठाए थे अब वे भरोसा करते हैं कि विवाद को केवल शांति और मिलकर सुलझाया जा सकता है।


देशवासियों को यह जानकर बहुत प्रसन्‍नता होगी। नॉर्थ ईस्‍ट में इंसर्जेंसी बहुत ही मात्रा में कम हुई है और इसकी सबसे बड़ी वजह यह है की क्षेत्र से जुड़े हरेक मुद्दे को शांति के साथ र्ईमानदारी से चर्चा करके सुलझाया जा रहा है। देश के किसी भी कौने में अब भी हिंसा और हथियार के बल पर समस्‍याओं का समाधान खोज रहे लोगों से आज इस गणतंत्र दिवस के पवित्र अवसर पर अपील करता हूं कि वे वापस लौट आएं। मुद्दों को शांतिपूर्ण तरीके से सुलझाने में अपनी और इस देश की क्षमताओं पर भरोसा रखे।


प्रधानमंत्री ने कहा कि 2020 का नया दशक ब्रू रियांग समुदाय के लिए उम्‍मीद की नई किरण लेकर आया है। उन्‍होंने कहा कि दिल्‍ली में किए गए इस समझौते से वर्षों पुराने ब्रू रियांग संकट का अंत हो गया है।


जरा सोचिए 23 साल तक कैम्‍पों में कठिन परिस्थितियों में जीवनयापन करना उनके लिए कितना दुष्‍कर रहा होगा। जीवन के हर पल हर दिन का एक अनिश्चित भविष्‍य के साथ बढ़ना कितना कष्‍टप्रद रहा होगा। सरकारें आई और चली गईं लेकिन इनकी पीड़ा का हल नहीं निकल पाया। लेकिन इतने कष्‍ट के बावजूद भारतीय संवि‍धान और संस्‍कृति के प्रति उनका विश्‍वास अडिग बना रहा।


प्रधानमंत्री ने कहा कि तकरीबन 34 हजार ब्रू शरणार्थिंयों को त्रिपुरा में फिर से बसाया जाएगा और सरकार इनके पुनर्वास और समग्र विकास के लिए लगभग छह सौ करोड़ रुपये की मदद देगी।


प्रधानमंत्री ने तीसरे खेलो इंडिया खेल के सफल आयोजन के लिए असम सरकार और राज्‍य के लोगों को बधाई दी। उन्‍होंने कहा कि इन खेलों में विभिन्‍न राज्‍यों के छह हजार से ज्‍यादा खिलाडि़यों ने हिस्‍सा लिया। आयोजन में 80 से ज्‍यादा रिकॉर्ड बने। इनमें से लड़कियों ने 56 रिकॉर्ड अपने नाम किए। उन्‍होंने कहा कि खेलो इंडिया से बच्‍चों को काफी प्रोत्‍साहन मिला है।


2018 में जब खेलों इंडिया गैम की शुरूआत हुई थी। तब इसमें 3500 खिलाडि़यों ने हिस्‍सा लिया था। लेकिन महज तीन वर्षों में खिलाडि़यों की संख्‍या 6 हजार से अधिक हो गई हैं। यानी करीब-करीब दो गुनी इतना ही नहीं सिर्फ तीन वर्षों में खेलों इंडिया गेम्‍स के माध्‍यम से 3200 प्रतिभाशाली बच्‍चे उभरकर सामने आए हैं।


प्रधानमंत्री ने परीक्षा पे चर्चा के दौरान छात्रों से बातचीत के अनुभव के बाद भरोसा जताया कि देश का युवा आत्‍मविश्‍वास से भरा हुआ है और हर चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है।


उन्‍होंने कहा कि पिछले साल नवम्‍बर में स्‍कूलों में शुरू किए गए फिट इंडिया अभियान के शानदार परिणाम आए हैं।


हमारा न्‍यू इंडिया पूरी तरह से फिट रहे। इसके लिए हर स्‍तर पर जो प्रयास देखने को मिल रहे हैं। वे जोश और उत्‍साह से भर देने वाले हैं। पिछले साल नवम्‍बर में शुरू हुई फिट इंडिया स्‍कूल की मुहिम भी अब रंग ला रही है। मुझे बताया गया है अब तक 65 हजार से ज्‍यादा स्‍कूलों ने ऑनलाइन रजिस्‍ट्रेशन करके फिट इंडिया स्‍कूल सर्टिफिकेट प्राप्‍त किया है। देश के बाकी सभी स्‍कूलों से भी मेरा आग्रह है कि वे फिजिकल एक्‍टि‍विटी और खेलों को पढ़ाई के साथ जोड़कर फिट स्‍कूल जरूर बनें।


प्रधानमंत्री ने जल संरक्षण में बढ़ती जनभागिता की सराहना की और कहा कि इसके लिए देश के प्रत्‍येक हिस्‍से में व्‍यापक स्‍तर पर नए तरीके के प्रयास जारी हैं।


मुझे यह कहते हुए बहुत खुशी हो रही है कि पिछले मानसून के समय शुरू किया गया जल शक्ति अभियान जनभागीदारी से अत्‍यधिक सफलता की ओर आगे बढ़ रहा है। बड़ी संख्‍या में तालाबों पोखरों आदि का निर्माण किया। सबसे बड़ी बात यह है कि इस अभियान में समाज में हर तबके के लोगों ने अपना योगदान दिया।


श्री मोदी ने कहा कि देश स्‍वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर वर्ष-2022 में गगनयान मिशन के ज़रिए अंतरिक्ष में एक भारतीय को भेजने के लक्ष्‍य में एक कदम और आगे बढ़ा है। उन्‍होंने कहा कि मिशन में अंतरिक्ष यात्रियों के चयन के लिए चार लोगों को चुना गया है। ये सभी भारतीय वायुसेना के पायलट हैं। ये लोग अगले कुछ दिनों में प्रशिक्षण के लिए रूस जाएंगे और भारत-रूस मित्रता एवं सहयोग का नया स्‍वर्णिम अध्‍याय लिखेंगे।


प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रत्‍येक वर्ष की भांति कल शाम पद्म पुरस्‍कार की घोषणा की गई। उन्‍होंने लोगों से प्रत्‍येक पुरस्‍कार प्राप्‍त कर्ता के बारे में पढ़ने का अनुरोध किया। उन्‍होंने कहा कि पद्म पुरस्‍कार आज जन पुरस्‍कार बन गए हैं।


श्री मोदी ने बिहार के शैलेष का उल्‍लेख करते हुए मन की बात चार्टर साझा किया। इसमें मन की बात कार्यक्रम के विभिन्‍न विषयों को दर्शाया गया है। प्रधानमंत्री ने कहा है कि मन की बात कार्यक्रम एक नया विचार है और लोग इसमें अपनी पसंद के विषय जोड़ सकते हैं।


प्रधानमंत्री ने देशवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए उम्‍मीद जताई कि नया दशक हर एक नागरिक और देश के लिए नए संकल्‍प और उपलब्धियां लेकर आएगा।

..........

इस कार्यक्रम पर देशभर से प्रतिक्रियाएं व्‍यक्‍त की जा रही हैं। उत्‍तराखंड के अलमोड़ा के निकट सुनियाकोट गांव के कैलाश सिंह ने आकाशवाणी से बातचीत में कहा कि प्रधानमंत्री के मन की बात से प्र‍ेरित होकर गांववासियों का जीवन बदल गया है।


बाहर से जो लड़के हैं हमारे उन्‍होंने पैसा एकजुट किया और अपने गांव के सारे बच्‍चों ने एकजुट मिलकर काम किया, इसलिए पानी आया। उसमें सारे लेबर का पैसे का सभी कुछ का काम हम ही ने किया।


असम में गुवहाटी से पुर्णिमा मोंडल ने बताया कि मन की बात से बच्‍चों को खेलने की प्रेरणा मिली है।


पहले स्‍टेडियम तीनों बच्‍चों को लेकर जा करके वहां घूमते रहती हूं और उन लोगों को छोड देती हूं मै और में एक तरफ बैठी रहती हू उन लोगों को खेलने और कूदने देती हू। भईया के साथ खेलते-खेलते आज यह छोटा खेला कल वो थोडा बड़ा खेला उसके बाद ऐसे करते-करते आज इस रस्‍ते में वह लोग आ गए हैं।

...........

71वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर आज राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली के राजपथ पर भव्‍य सैन्‍य परेड का आयोजन किया गया। इसमें देश के इतिहास, सांस्‍कृतिक विविधता और सामरिक शक्ति का प्रदर्शन किया गया। राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविन्‍द ने तिरंगा झंडा फहराया और परेड की सलामी ली। ब्राजील के राष्‍ट्रपति जाइर मैसियास बोलसोनारो इस वर्ष के गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्‍य अतिथि थे।


इस बार गणतंत्र दिवस समारोह का शुभारंभ अमर जवान ज्‍योति के बजाय राष्‍ट्रीय समर स्‍मारक पर प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा देश के लिए अपना जीवन बलिदान करने वाले जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करने से हुआ। इस अवसर पर राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहराया गया और राष्‍ट्रीय गान गाया गया तथा 21 तोपों की सलामी दी गई।


गणतंत्र दिवस परेड़ विजय चौक से प्रारंभ हुई और लालकिला मैदान की ओर आगे बढ़ी। परेड का नेतृत्‍व दिल्‍ली क्षेत्र मुख्‍यालय के जनरल ऑफिसर कमांडिंग परेड कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल असित मिस्‍त्री ने किया।


भारत की सैन्‍य शक्ति, सांस्कृतिक विविधता, सामाजिक और आर्थिक प्रगति की रंग बिरंगी झलक राजपथ पर देखने को मिली। वहीं पहली बार, सीआरपीएफ की महिला बाइकर्स की एक टुकड़ी ने, साहसी स्टंट का प्रदर्शन किया और दर्शकों ने भी तालिया बजाकर उनके शौर्य को सलाम किया। परेड में सोलह राज्‍य और केन्‍द्र शासित प्रदेश के अलावा छह केन्‍द्रीय मंत्रालयों की झांकियां ने भाग लिया। इसके अलावा विभिन्‍न मंत्रालयों और विभागों की झांकियों में स्‍टार्ट अप इंडिया, जल जीवन मिशन और वित्‍तीय समावेश को प्रदर्शित किया गया। जम्मू और कश्मीर ने पहली बार केंद्र शासित प्रदेश के रूप में परेड में भाग लिया। इस वर्ष की परेड का मुख्‍य आकर्षण, सुखोई और अत्‍याधुनिक हल्‍के हैलीकॉप्‍टरों के साथ हाल में शामिल किए गए चिनूक तथा अपाचे हैलीकॉप्‍टरों का फ्लाई पास्‍ट रहा। 90 मि‍नट तक चले, इस परेड में उपग्रह रोधी हथियार- मिशन शक्ति और सेना का लड़ाकू टैंक भीष्‍म भी समारोह के मुख्‍य आकर्षक थे। विभिन्‍न राज्‍यों से आए छह सौ से अधिक छात्र-छात्राओं ने सांस्‍कृतिक कार्यक्रम, योग और लोक-नृत्‍य प्रस्‍तुत किया। समारोह का समापन राष्‍ट्रगान के साथ हुआ और फिर रंगविरंगे गुब्‍बारे छोड़े गए। दीपेन्द्र कुमार आकाशवाणी समाचार दिल्ली।

...........

देश के सभी राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों में भी गणतंत्र दिवस राष्‍ट्रभक्ति और उल्‍लास के साथ मनाया गया। राज्‍यों में मुख्‍य समारोह वहां की राजधानी में आयोजित किए गए, जहां मुख्‍यमंत्रियों ने राष्‍ट्र ध्‍वज फहराया और परेड की सलामी ली। केंद्रशासित प्रदेशों में वहां के राज्‍यपाल ने परेड की सलामी ली।

...........

केंद्रशासित प्रदेश जम्‍मू-कश्‍मीर में कश्‍मीर घाटी में मुख्‍य समारोह श्रीनगर के एस. के. क्रिकेट स्‍टेडियम में हुआ, जहां उपराज्‍यपाल के सलाहकार फारूख खान ने तिरंगा फहराया और परेड की सलामी ली।


लेफ्टिनेंट गवर्नर के सलाहकार फारूख खान ने श्रीनगर के शेर-ए-कश्‍मीर स्‍टेडियम में तिरंगा लहरा कर जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस, सीआरपीएफ, बीएसएफ, एनसीसी, कैडेट और स्‍कूली बच्‍चों से सलामी ली। अपने भाषण में फारूख खान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी सरकार जम्‍मू-कश्‍मीर की तरक्‍की को लेकर विशेष रूची रखती है। उन्‍होंने कहा कि हाल ही में 36 मंत्रियों का जम्‍मू-कश्‍मीर का दौरा इस बात को साबित करता है कि केन्‍द्रीय सरकार यहां अमन और निर्माण चाहती है। उन्‍होंने जम्‍मू-कश्‍मीर विशेषकर घाटी में अमन को कायम रखने के लिए पुलिस सहित सभी सुरक्षाबलों की सराहना की। इश्‍फाक शाह, श्रीनगर, जम्‍मू-कश्‍मीर

...........

विदेशों में भी गणतंत्र दिवस मनाए जाने के समाचार मिले हैं। नेपाल, श्रीलंका, दुबई और कुछ अन्‍य देशों में भारतीय दूतावासों में ध्‍वाजारोहण किया गया। श्रीलंका में उच्‍चायुक्‍त तरनजीत सिंह संधू ने तिरंगा झंडा फहराया और उपस्थित लोगों ने राष्‍ट्रगान गया।

..........

भारतीयता की भावना को अभिव्‍यक्‍त करने के लिए आज नई दिल्‍ली में लाल किला प्रागंण में भारत पर्व की शुरूआत की गई। यह उत्‍सव शनिवार तक चलेगा।


भारत पर्व का उद्देश्य लोगों को देश के विभिन्न पर्यटन स्थलों की यात्रा के लिए प्रेरित करना और 'देखो अपना देश' की भावना को प्रोत्साहित करना है। पर्यटन मंत्रालय ने कहा है कि इस वर्ष के भारत पर्व का विषय 'एक भारत श्रेष्ठ भारत' और 'महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मनाया जाना है।


यह कार्यक्रम दर्शकों के लिए आज रात 10 बजे तक खुला रहेगा। कल से दर्शक दोपहर 12 बजे से रात दस बजे तक इसमें नि:शुल्क प्रवेश ले सकेंगे। इसके लिए उन्‍हें अपना पहचान पत्र दिखाना होगा।

..........

ऑकलैंड में भारत और न्‍यूजीलैंड के बीच दूसरे ट्वेंटी-ट्वेंटी क्रिकेट मैच में भारत ने न्‍यूजीलैंड को सात विकेट से हरा दिया है। न्‍यूजीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में पांच विकेट पर 132 रन बनाए। जवाब में टीम इंडिया ने 15 गेंद शेष रहते यह मैच जीत लिया। अगला मैच बुधवार को हैमिल्‍टन में खेला जाएगा।

...........

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 21 (Feb) Midday News 21 (Feb) News at Nine 20 (Feb) Hourly 21 (Feb) (1300hrs)
समाचार प्रभात 21 (Feb) दोपहर समाचार 21 (Feb) समाचार संध्या 20 (Feb) प्रति घंटा समाचार 21 (Feb) (1305hrs)
Khabarnama (Mor) 21 (Feb) Khabrein(Day) 21 (Feb) Khabrein(Eve) 20 (Feb)
Aaj Savere 21 (Feb) Parikrama 20 (Feb)

Listen Programs

Market Mantra 20 (Feb) Samayki 20 (Feb) Sports Scan 20 (Feb) Spotlight/News Analysis 20 (Feb) Samachar Darshan 19 (Feb) Radio Newsreel 18 (Feb)
    Public Speak

    Country wide 20 (Feb) Surkhiyon Mein 20 (Feb) Charcha Ka Vishai Ha 19 (Feb) Vaad-Samvaad 18 (Feb) Money Talk 18 (Feb) Current Affairs 14 (Feb)
  • Money Matters 20 (Feb)
  • International News 21 (Feb)
  • Press Review 21 (Feb)
  • From the States 21 (Feb)
  • Let's Connect 21 (Feb)
  • 360°- Ek Parivesh 21 (Feb)
  • Know Your Constitution 30 (Jan)
  • Ek Bharat Shreshta Bharat 21 (Feb)
  • Sanskriti Darshan 20 (Feb)
  • Fit India New India 21 (Feb)