A- A A+
Last Updated : May 29 2020 5:08PM     Screen Reader Access
News Highlights
HM Amit Shah speaks to all Chief Ministers; Seeks their views on future strategy in fight against Covid 19            COVID recovery rate improves to 42.88 %, Over 71 thousand patients cured so far            449 domestic flights operated on day-3 of resumption of Air Lines services: Civil Aviaiton Minister HS Puri            Railways Ministry appeals persons in COVID-19 risk category to avoid travel by trains            Over 2 lakh metric tonnes of food grains lifted by states for May & June: FCI           

Text Bulletins Details


दोपहर समाचार

1415 HRS
06.04.2020

मुख्‍य समाचार

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा स्थापना दिवस पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। कार्यकर्ताओं से गरीबों के लिए राशन उपलब्‍ध कराने के वास्‍ते अभियान चलाने और पीएम कैयर्स फंड में दान देने का आग्रह।

  • प्रधानमंत्री ने कहा-देश कोविड-19 के खिलाफ लडाई जीतने के अभियान में एकजुट।

  • विमानन कंपनियों ने लगभग 161 टन कार्गो का परिवहन किया है, इसमें मास्क, दस्ताने और उपभोग की  अन्य वस्‍तुओं की खेप शामिल है।

  • ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन, कोरोना के लक्षण लगातार दिखने के बाद स्‍वास्‍थ्‍य जांच के लिए लंदन के अस्पताल में भर्ती।

  • जम्मू-कश्मीर में कुपवाड़ा जिले में गोलीबारी में पांच सैनिक शहीद। मुठभेड में पांच आतंकवादी मारे गए।

  • महावीर जयंती के अवसर पर राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने देशवासियों को शुभकामनाएं दीं।

-----

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि भारत उन देशों में से है, जिसने कोविड-19 की गंभीरता को समय रहते भांप लिया और तुरंत एहतियाती कदम उठाये। आज भारतीय जनता पार्टी के 40वें स्‍थापना दिवस पर पार्टी कार्यकर्ताओं को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा कि भारत ने दुनिया के सामने महामारी से निपटने का एक नया उदाहरण प्रस्‍तुत किया है।    


जो भी आवश्‍यक निर्णय करने की जरूरत पड़ी। एक्‍सपर्ट की मदद से करते रहे। एयरपोर्ट पर विदेशों से आने वाले लोगों के थर्मल स्‍क्रीनिंस्‍क्रीनिंग हों, विदेश में फंसे भारतीयों को स्‍वदेश लाने की बात हो, दुनिया के कई देशों से भारत में आने वाले हवाई यातायात को बंद करने का बड़ा कठिन निर्णय हो, मेडिकल इंफ्रास्‍टेक्‍चर को इस महामारी से निपटने के लिए तैयार करने के लिए प्रयास हों, भारत एक के बाद एक प्रोएक्टिव होकर के फैसले करता गया। राज्‍य सरकारों के सहयोग से इन फैसलों को गति भी दी। भारत ने जितनी तेजी से काम किया है। होलिस्टिक एपरोच के साथ काम किया है। आज उसकी प्रशंसा सिर्फ भारत में ही नहीं, वर्ल्‍ड हेल्‍थ ऑर्गेनाइजेशन डब्‍ल्‍यू एच ओ ने भी की है।


श्री मोदी ने कहा कि देश आज कोविड-19 को समाप्‍त करने के मिशन के प्रति एकजुट है। उन्‍होंने कहा कि यह एक लंबी लड़ाई है, लेकिन भारत न थकेगा, न हारेगा।

प्रधानमंत्री ने मौजूदा परिस्थिति से निपटने में परिपक्‍वता का परिचय देने के लिए देशवासियों की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह अभूतपूर्व है।


यही एजुटता यही संकल्‍प भारत को विजयश्री प्राप्‍त करने में मदद मिलती है। वर्तमान परिस्थितियों में इस शक्ति का प्रभाव हम अपने चारों तरफ देखें, चाहे वो एक दिन जनता कर्फ्यू हो, या लंबे समय का लॉकडाउन का समय या प्रत्‍येक भारतीय तमाम मुश्किलें उठाकर भी देश के साथ पूरी मजबूती से खड़ा है। भारत जैसा इतना बड़ा देश 130 करोड़ लोगों का देश लॉकडाउन के समय भारत की जनता ने जिस तरह की मैच्‍योरिटी दिखाई है। ये अभूतपूर्व है। हम भारत के कोटि-कोटिजनों का जितना नमन करें उतना कम है। कोई कल्‍पना नहीं कर सकता था कि इतने विशाल देश में लोग इस तरह अनुशासन और सेवाभाव का पालन करेंगे।


कल रात नौ बजे नौ मिनट के लिए देशभर में बिजली बंद कर दीये जलाने का जिक्र करते हुए उन्‍होंने कहा कि यह पूरे देश की एकजुटता की शक्ति का प्रदर्शन था।


सभी ने मिलकर एकजुटता की इस ताकत को उसका साक्षात्‍कार किया। कोरोना के खिलाफ लड़ाई का अपना संकल्‍प और मजबूत किया और जो मूलभाव था। मैं अकेला नहीं हूं। इस लड़ाई में मैं अकेला नहीं हूं। मैं भले घर में बैठा हूं, लेकिन पूरा देश लड़ रहा है। इस चीज को कल लोगों ने एहसास फिर से एकबार आपने खुद महसूस किया होगा। गांव, देहात से लेकर के बड़े शहरों तक असंख्‍य दीयों ने प्रकाश ने कोरोना संकट के अंधेरे को उस हताश निराशा को दूर करने में एक-एक नागरिक का हौंसला बुलंद करने में मदद की। 130 करोड़ देशवासियों की महाशक्ति का महाप्रयास और उससे जन्‍में महाप्रकाश ने देशवासियों को लंबी लड़ाई के लिए तैयार किया है।


प्रधानमंत्री ने कहा कि शुरू से ही, राष्‍ट्र प्रथम भारतीय जनता पार्टी का मंत्र रहा है। उन्‍होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से पांच अपील करते हुए कहा कि वे गरीबों को राशन और अपने अलावा पांच से छह लोगों को मास्‍क उपलब्‍ध कराने के लिए अभियान जारी रखें। श्री मोदी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि ये कोरोना वायरस संक्रमण के प्रति जागरूक करने के लिए लोगों को आरोग्‍य सेतु ऐप का उपयोग करने को कहे। उन्‍होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वे पीएम केयर्स कोष में दान दें और 40 अन्‍य लोगों को भी ऐसा करने को कहें। प्रधानमंत्री ने कहा कि कार्यकर्ताओं को इस मुश्किल घड़ी में देश की सेवा में जुटे लोगों के प्रति कृतज्ञता अभिव्‍यक्‍त करनी चाहिए।


हमारी पार्टी का स्‍थापना दिवस हम सब के लिए एक प्रेरणा का अवसर होता है। नये संकल्‍पों का पल होता है। देश के लिए, समाज के लिए, कुछ कर गुजरने के लिए कृतसंकल्‍प होने का ये पल होता है। लेकिन इस बार का ये स्‍थापना दिवस एक ऐसे कालक्रम में आया है देश ही नहीं पूरी मानव जात के सामने एक संकट पैदा हुआ है। चुनौतियों भरा ये वातावरण देश की सेवा के लिए हमारे, संस्‍कार हमारे समर्पण हमारी प्रतिबद्धता इन सबको लेकर के और अधिक सशक्‍त होकर के प्रसस्‍त होने का मार्ग तय करता है।


श्री मोदी ने डॉक्‍टर श्‍यामा प्रसाद मुखर्जी, दीनदयाल उपाध्‍याय और कुशाभाऊ ठाकरे को याद करते हुए कहा कि इन नेताओं ने अनुकरणीय उदाहरण प्रस्‍तुत किये और अपना जीवन राष्‍ट्र सेवा के प्रति समर्पित कर देने वाले पार्टी के इन वरिष्‍ठ कार्यकर्ताओं से बहुत कुछ सीखा जा सकता है।

-----

भाजपा अध्‍यक्ष श्री नड्डा ने पार्टी कार्यकर्ताओं से एक शाम का भोजन त्‍यागने की अपील की है, ताकि लॉकडाउन के दौरान कठिनाइयों से गुजर रहे लोगों के साथ एकजुटता प्रदर्शित की जा सके। श्री नड्डा ने पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए दिशा-निर्देश जारी करते हुए अपील की है कि वे जरूरतमंदों को खाने के पैकेट और घर में बने मास्‍क उपलब्‍ध कराएं। श्री नड्डा ने कहा-


ये 40वां भारतीय जनता पार्टी का स्‍थापना दिवस। यह कोरोना से लड़ने के लिए हम समर्पित करते हैं। देश के सभी कार्यकर्ताओं के लिए हमने कार्यक्रम दिये हैं। उन सारे कार्यक्रमों को भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता घर में रह कर सोशल डिसटेंसिंग का पालन करते हुए समाज की सेवा में जुटेगा और समाज में एक जिम्‍मेदार नागरिक के रूप में वो सेवा कार्य में जुटेगा यह मैं कहना चाहता हूं और हम सब लोग प्रधानमंत्री जी को विश्‍वास दिलाते हैं कि उनके बताये रास्‍ते पर पूरी ताकत के साथ सारी पार्टी लगेगी और हम इस कोरोना की लड़ाई में विजय भी हासिल करेंगे और पार्टी को आगे बढ़ाने में मजबूती प्रदान करने में कोई भी कमी नहीं छोड़ेंगे।

-----

प्रधानमंत्री के आह्वान पर कल रात राष्‍ट्र ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई लड़ने और जीतने का संकल्‍प व्‍यक्‍त किया। कल रात प्रधानमंत्री की 9 बजे 9 मिनट की अपील के बाद देशभर में मोमबत्तियां, दीये और टार्च लाइटें जलाई गई। श्री मोदी ने स्‍वयं लैम्‍प जलाते हुए अपना फोटो साझा किया। प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीटर हैण्‍डल पर एक श्‍लोक भी साझा किया-


शुभम करोति कल्‍याणमारोग्‍यं धनसंपदा ।

शत्रु बुद्धि विनाशाय दीप ज्‍योतिर्नमोऽस्‍तुते ।।


श्री मोदी के आह्वान का देशभर में व्‍यापक असर हुआ। सभी वर्गों के लोगों ने कोरोना वायरस के खिलाफ संघर्ष में एकजुटता दिखाने के लिए लाइटें बंद कर दी और दीये जलाए।

-----

केन्‍द्र ने लॉकडाउन के दौरान चिकित्‍सा सामग्री और आवश्‍यक वस्‍तुओं की उपलब्‍धता सुनिश्चित करने के लिए कई कदम उठाये हैं। इनमें नागर विमानन मंत्रालय की लाइफलाइन उड़ान सेवा शामिल है। इसके लिए पूर्वोत्‍तर क्षेत्रों, द्वीपीय इलाकों और पर्वतीय राज्‍यों पर विशेष ध्‍यान दिया जा रहा है। एक रिपोर्ट:-


देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में आवश्‍यक चिकित्‍सा सामानों की आपूर्ति के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय लाइफलाइन उडानें संचालित कर रहा है। एयर इंडिया, एलाइंस एयर, भारतीय वायु सेना, पवन हंस और निजी ऑपरेटर 116 उडानें के जरिये अब तक लगभग 161 टन सामान की  ढुलाई कर चुके हैं। ढुलाई की गई सामग्रियों में अधिकांशत: मास्‍क, दस्‍ताने और अन्‍य उपभोक्‍ता सामान शामिल है। पूर्वोत्‍तर क्षेत्रों, द्वीपों  और पहाडी राज्‍यों पर विशेष ध्‍यान केंद्रित किया है। स्‍पाइस जेट, ब्‍लू डाट और इडिगो जैसे घरेलू कार्गो ऑपरेटर भी जनता को आवश्‍यक वस्‍तुएं प्रदान करने के लिए वाणिज्यिक आधार पर उडानों का संचालन कर रहे हैं। इन ऑपरेटरों द्वारा ढुलाई किए गए सामानों में चिकित्‍सा आपूर्ति भी शामिल है जो सरकार के लिए नि:शुल्‍क है। सुपर्णा सेकिया के साथ भूपेन्‍द्र सिंह, आकाशवाणी समाचार, दिल्‍ली।

-----

भारतीय रेलवे ने लॉकडाउन के बाद से माल ढुलाई संचालन से जुड़े मुद्दों और यात्रियों तथा नागरिकों की सहायता के लिए रेल नियंत्रण कार्यालय के जरिये एक लाख 25 हजार से अधिक शंकाओं का निवारण किया है। रेल नियंत्रण कक्ष अपनी हेल्‍पलाइन नंबर 1 3 9 और 1 3 8, सोशल म‍ीडिया मंचों तथा ई-मेल railmadad@rb.railnet.gov.in. के जरिये दिन-रात काम रहा है।

-----

भारतीय खाद्य निगम-एफसीआई ने अपने गोदामों से एक दिन में एक लाख 93 हजार मीट्रिक टन अनाज जारी करने का रिकार्ड बनाया है। उपभोक्‍ता कार्य मंत्रालय ने कहा कि एफसीआई पूर्णबंदी के दौरान देश के प्रत्‍येक भाग में अनाज की पर्याप्‍त उपलब्‍धता सुनिश्चित कर रहा है। पिछले महीने की 25 तारीख को पूर्णबंदी शुरू होने से 12 दिन के दौरान हर रोज औसतन एक लाख, इक्‍तालीस हजार टन अनाज की आपूर्ति की गयी।

-----

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय में संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि सरकार निजी सुरक्षा साजो सामान-पी.पी.ई. की आपूर्ति बढ़ा रही है और इसका घरेलू उत्‍पादन शुरू हो चुका है। उन्‍होंने कहा कि सरकार विश्‍व में इसकी खरीद कर रही है और कई समाजसेवी संगठन भी इसमें सहयोग कर रहे हैं।

-----

उत्‍तरप्रदेश में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ सरकार कोविड-19 के फैलाव को रोकने के लिए कई पहल कर रही है। राज्‍य सरकार ने लॉकडाउन का कडाई से पालन करने के लिए गरीबों और फंसे हुए लोगों के लिए खाद्य सामग्री और वित्‍तीय सहायता प्रदान कर रही है। ब्‍योरा हमारे संवाददाता से-


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोनावायरस मरीजों की संख्या में अचानक हुई बढ़ोतरी को गंभीरता से लिया है।  लखनऊ में राज्य आपदा प्रबंधन नियंत्रण कक्ष का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सही जानकारी होना अत्यावश्यक है और जानकारी लेकर लोगों की समस्याओं का समाधान करना हमारी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि वीडियो वॉल स्थापित हो जाने के बाद सूचनाओं के आदान-प्रदान में तेजी आएगी उन्होंने सभी जनपदों में जिलाधिकारियों को अपने यहां आपदा नियंत्रण कक्ष स्थापित करने के निर्देश दिए। इस दौरान कानपुर में तबलीगी जमात के कारण कोरोना में हुई वृद्धि के चलते जिलाधिकारी ने कानपुर कथा घाटमपुर कस्बे में पूर्णतया लोग डाउन कल से लागू करने के निर्देश दिए हैं। जिला अधिकारी ब्रह्मदेव राम तिवारी ने कहा कि इस दौरान सभी दुकानें बंद रहेंगी आवश्यक खाद्य पदार्थों की आपूर्ति लोगों को घरों पर की जाएगी। उन्हें बाहर आने की आवश्यकता नहीं है संक्रमण बीमारी विभाग की निदेशक डॉ मिथिलेश चतुर्वेदी ने बताया कि 27 और नए मामले मिलने के बाद राज्य में को रोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 305 हो गई है। एमएस यादव आकाशवाणी समाचार लखनऊ।

-----

महाराष्‍ट्र में देश के अन्‍य हिस्‍सों की तरह सब्‍जी बाजारों में भारी भीड उमड रही है, जिससे सुरक्षा नियमों का उल्‍लंघन हो रहा है, लेकिन कुछ उदाहरण है, जहां प्रशासन ने भीड को नियंत्रित किया है और उन्‍हें सब्‍जी, फल और दवाएं सीधे वितरित कर रहा है। ब्‍यौरा हमारे संवाददाता से -


देशभर मे कोरोना महामारी प्रकोप के डर के बावजूद कई जगह लोग सब्जी या अन्य चीजों की खरीदारी के लिये भीड इकठ्ठा कर रहे है। इसी को ध्यान में देखते हुए महाराष्‍ट्र में सतारा जिला प्रशासन तथा नगर निगम ने सार्वजनिक तरकारी और फलों की मंडी तथा दुकानें बंद करके होम डिलिवरी सिस्टम शुरू की है और इसे प्रभावी तरीके से चलाया जा रहा है। प्रशासन ने सबसे पहले किसान, खुदरा ब्यापारी तथा अन्य विक्रेताओं को इस योजना के लिये परमिट जारी किये औऱ इस योजना में शामिल होने का आहवान किया। इसके बाद किसान, ब्यापारी तथा अन्य दुकानदारों ने साथ मिलकर इस योजना का अमल शुरू किया। इस योजना के कारण सातारा मे करीब सभी जगहपर लोगों को सब्जी, दूध तथा अन्य जीवनावश्यक चीजें घर पर ही मिलने से उनकी कठिनाईयां दूर हुई है उसी तरह उचित दाम और खेती की उपज पुरी तरह से उपयोग मे आने के कारण किसानों मे खुशी है और खुदरा ब्यापारी भी संतुष्ट है। इसी तरह नाशिक जिले में कोविड-19 को छोडकर अन्य बीमारियों के लिये दवाई की प्रतीक्षा करने वाले मरीजों के लिये प्रशासन ने एक एनजीओ की मदद से होम डिलिवरी सिस्टम शुरू की है। इस एनजीओ ने अपना हेल्पलाईन नंबर तथा व्हॉटऐप नंबर इन मरीजों की मदद की लिये मुहैया किया है और इस सुविधा की मदद से मरीजों की कठिनाईयां काफी हद तक कम हुई है। शैलेश पाटील, आकाशवाणी समाचार, मुंबई।

-----

मिजोरम सरकार ने लॉकडाउन के दौरान फसल कटाई और अन्‍य कृषि कार्य जारी रखने के लिए हरसंभव उपाय किये हैं। राज्‍य सरकार ने सभी जिला आयुक्‍तों को यह निर्देश भी दिया है कि वे सभी किसानों द्वारा स्‍वच्‍छता उपायों को अपनाया जाना सुनिश्चित करें।

-----

तमिलनाडु में, जरूरी वस्‍तुओं की आवाजाही और वितरण को प्रभावित किये बिना, लोगों की आवाजाही को नियंत्रित करने के लिए अनूठे उपाय किये जा रहे हैं। मसलन, त्रिची के पास अरियालूर और कावेरी डेल्‍टा के कुछ अन्‍य जिलों में बहुरंगी परमिट जारी किये जा रहे है। लोगों को सड़क पर निकलने के लिए हमेशा अपने पास परमिट रखना होगा। 

-----

रेलवे ने कोविड-19 से निपटने के लिए ढ़ाई हजार बोगियों को विशेष निगरानी स्‍थलों में परिवर्तित कर दिया है। रेलवे ने आपात स्थिति के लिए 40 हजार बिस्‍तर तैयार किये हैं। प्रतिदिन औसतन पौने चार सौ बोगियों को विशेष निगरानी वाली कोच में तब्‍दील किया जा रहा है। यह काम एक सौ तैंतीस स्‍थानों पर चल रहा है। रेल मंत्रालय ने बताया कि ये बोगियां केवल आपात स्थिति के लिए तैयार की जा रही हैं।

-----

जम्‍मू कश्‍मीर में कोविड-19 के संक्रमितों की बढती संख्‍या को देखते हुए प्रशासन कुछ रेलवे कोच को आइसोलेशन वार्ड में बदलने की योजना बना रहा है। हमारे संवाददाता ने बताया है कि इस संबंध में रेल अधिकारियों से एक सौ आइसोलेशन बिस्‍तरों की व्‍यवस्‍था करने को कहा गया है।


सरकार सेना की मदद से जम्‍मू कश्‍मीर दोनों प्रांतों में 100 से 200 बिस्‍तरों वाले 28 अस्‍पताल तैयार करने पर विचार कर रही है। सरकार ने पहले ही केंद्र शासित प्रदेशों से 16 अस्‍पतालों को विशेष रूप से कोविड-19 से ग्रस्‍त मरीजों के इलाज के लिए समर्पित अस्‍पतालों में तब्‍दील भी कर दिया है।  गांधी नगर जम्‍मू में ऐसे ही एक अस्‍पताल में आज से काम करना भी शुरू कर दिया है। इस अस्‍पताल में 270 आइसोलेशन बिस्‍तर की क्षमता है। हमने जिस संबंध में सरकारी अस्‍पताल गांधीनगर के मेडिकल सुर्पिटेंडेंट डॉ. लक्ष्‍मणदास से विशेष बातचीत की तो उन्‍होंने बताया -


लेवल 2 फेसिलिटी को कोविड हॉस्पिटल डेजीग्‍नेड किया गया है जिसमें हम जो पेंशट लेवल 1 से यहां पर आएंगे पॉजिटिव केसेस को हम ट्रीट करेंगे। जिसके लिए हमने 90 बेड्स बिल्‍कुल रेडी करके रखा है, ओल्‍ड बिल्डिंग में। न्‍यू बिल्डिंग हमारी है उसमें हम 200 बैड्स का अरेंजमेंट कर रहे हैं।


सरकार द्वारा इस महामारी से निपटने के लिए कोविड-19 के मरीजों का इलाज उपलब्‍ध कराने के लिए हरसंभव जतन किया जा रहा है ताकि वो जल्‍द से जल्‍द पूरी तरह से ठीक हो सके। आकाणवाणी समाचार के लिए जम्‍मू से आर.के.रैना।

-----

केरल में कोरोना मरीजों के लिए कासरगोड में खासतौर से बनाया गया अस्‍पताल आज शाम से काम करने लगेगा। एक रिपोर्ट-


तिरूवनंतपुरम सरकारी चिकित्‍सा महाविद्यालय से 26 सदस्‍यों का चिकित्‍सा दल पहले ही कासरगोड पहुंच चुका है, ताकि नये कोविड अस्‍पताल के कर्मचारियों के साथ तालमेल बिठाया जा सके और उन्‍हें प्रशिक्षित किया जा सके। इस अस्‍पताल में कोरोना मरीजों का इलाज आज शाम से शुरू हो जाएगा। अस्‍पताल में 200 बिस्‍तर और 20 सघन चिकित्‍सा कक्ष हैं। केरल में कोरोना के सबसे ज्‍यादा, 100 से भी अधिक मरीज कासरगोड जिले में ही मिले हैं। इस बीच, राज्‍य के वित्‍त मंत्री थॉमस आइजेंक ने कहा कि राज्‍य के सभी पेंशनभोगियों को डाकघरों के माध्‍यम से घर पर ही पेंशन उपलब्‍ध करा दी जाएगी। उन्‍होंने कहा कि सरकार 14 अप्रैल से पहले सबको पेंशन प्राप्‍त हो जाना सुनिश्चित करेगी। केरल में फसल कटाई का त्‍योहार विशू 14 अप्रैल को ही मनाया जाता है। इस बीच, राज्‍य में कोरोना के 256 मरीजों का इलाज चल रहा है। राज्‍य में अब तक 56 लोग कोरोना के संक्रमण से मुक्‍त हो चुके हैं। तिरूवनंतपुरम से मयूशा की रिपोर्ट के साथ समाचार कक्ष से मैं कुमार राधारमण।

-----

गुजरात में कोविड-19 के 16 नये मामलों की पुष्टि के बाद राज्‍य में संक्रमितों की संख्‍या बढकर 144 हो गई है। राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने कहा है कि 11 मामले अहमदाबाद से, दो बडोदरा से और एक-एक मेहसाणा, पाटण और सूरत से हैं। ब्‍यौरा हमारी संवाददाता से-


स्वास्थ्य विभाग के मुख्‍य सचिव डॉ जयंती रवि ने कहा कि आज सामने आए कुल 16 मामलों में से केवल सात मामले स्थानीय संक्रमण से हैं, बाकी के सभी मामले अंतर-राज्यीय संक्रमण से हैं। उन्होंने कहा कि विशेष रूप से राजस्थान और दिल्‍ली की यात्रा करने वाले लोग आज अहमदाबाद में पॉजिटिव पाये गये। इसके साथ ही अहमदाबाद में दर्ज हुए कुल मामलों की संख्‍या 64 हुई जो राज्य में सबसे अधिक है, इसके बाद सूरत 17, भावनगर और गांधीनगर में 13-13 मामले दर्ज हुए हैं। कोरोना वायरस से अब तक, राज्य के कुल 15 जिले प्रभावित हैं। अपर्णा खुंट आकाशवाणी समाचार। अहमदाबाद।

-----

मध्‍यप्रदेश के भोपाल में आज पांच नये मामले आने से संक्रमितों की संख्‍या 45 हो गई है और एक व्‍यक्ति की मौत हो गई है। राज्‍य में अब यह आंकडा दो सौ से ऊपर पहुंच गया है तथा 14 लोगों की मौत हो गई है। हालांकि दो व्‍यक्ति ठीक हो गये हैं। ब्‍योरा हमारे संवाददाता से -


मुख्‍य चिकित्‍सा एवं स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि आज सुबह प्राप्‍त रिपोर्ट के साथ भोपाल में कोरोना संक्रमण के पांच नये रोगी मिले हैं। इन सभी को पहले से ही क्‍वारेंटीन में रखा गया था और ये सभी स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के कर्मचारी हैं। इस बीच बढ़ते मरीजों के कारण जिला प्रशासन ने भोपाल में कल रात से सख्‍ती से बंद करने की घोषणा की है। अब यहां प्रत्‍येक परिवार केवल एक व्‍यक्ति को ही मेडिकल स्‍टोर और दूध की दुकान से खरीददारी करने की अनुमति दी गई है। उधर, मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्‍यम से विभिन्‍न राजनीतिक दलों के नेताओं और चिकित्‍साकर्मियों से बात की। एक अच्‍छी खबर ये भी है कि इंदौर में वायरोलॉजी लैब की क्षमता पांच गुना बढ़ गई है। इससे अब प्रतिदिन चालीस के स्‍थान पर दो सौ जांच की जा सकेंगी। संजीव शर्मा आकाशवाणी समाचार भोपाल।

-----

झारखण्‍ड में कोविड-19 के एक अन्‍य मामले की पुष्टि रांची के हिन्‍दपीढी इलाके में हुई है। अब राज्‍य में संक्रमितों की संख्‍या चार हो गई है। रांची में महिला रोगी मलेशिया से आई एक सं‍क्रमित महिला के सम्‍पर्क में आई थीं।

-----

देश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 से संक्रमण के 6 सौ 93 नए मामलों की पुष्टि हुई है। संक्रमित लोगों की संख्‍या अब 4 हजार 67 हो गई है। स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय ने बताया कि 2 सौ 92 मरीज स्‍वस्‍थ हो गए हैं और एक सौ 9 लोगों की मौत हो गई है।

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद ने बताया है कि अब तक नवासी हजार 5 सौ 34 नमूनों की जांच हुई है। परिषद ने एक सौ 36 सरकारी प्रयोगशालाओं, 3 अन्‍य केंद्रों और 56 निजी प्रयोगशालाओं को कोविड-19 की जांच की मंजूरी दी है।

हमारे संवाददाता ने बताया है कि देशभर में कोविड-19 से 2 सौ 74 जिले प्रभावित हैं। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद ने हाल ही के परामर्श में चेतावनी दी है कि सार्वजनिक स्‍थलों में थूकनेसे कोविड-।9 के संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। लोगों से अनुरोध किया गया है कि वे तंबाकू उत्‍पादों का सेवन न करें और सार्वजनिक स्‍थलों पर न थूकें। 

-----

देशभर में नोवेल कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने महामारी फैलने से रोकने के लिए कई परामर्श जारी किए हैं। एक रिपोर्ट -


सरकार ने कहा है कि आवश्‍यक वस्‍तुओं की पर्याप्‍त आपूर्ति जारी है और लोगों को चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। लोगों को सलाह दी जाती है कि वे आवश्‍यक वस्‍तुओं और चिकित्‍सा के सामान की खरीददारी करते समय धैर्य रखें और शांत रहें। आवश्‍यक वस्‍तुओं को खरीदने के लिए बार-बार बाहर निकलने से बचें। साथ ही लोगों को हाथ मिलाने और गले गलने से भी बचना चाहिए। बाजार, मेडिकल स्‍टोर और अस्‍पतालों में लोग कम से कम एक मीटर की दूरी रखें। घर पर गैर-जरूरी सामाजिक समारोह से बचा जाना चाहिए और घर पर मेहमानों को नहीं बुलाना चाहिए। लोगों को अपनी आंख, नाक और मुंह को छूने से बचना चाहिए और लगातार हाथ साफ करते रहना चाहिए। हाथ को दोनों तरफ से कम से कम 20 सेकेण्‍ड तक धोना चाहिए। यदि कोई  व्‍यक्ति खांसी या बुखार से पीडि़त है तो वह दूसरों के संपर्क में आने से बचे और डॉक्‍टर से तुरंत परामर्श ले।  स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कोरोना वायरस के बारे में जानकारी के लिए एक टॉल फ्री नम्‍बर- 1075 जारी किया है।

-----

आकाशवाणी से विशेषज्ञों की राय श्रृंखला में कोविड-19 पर प्रमुख चिकित्‍सकों से चर्चा की जा रही है। आकाशवाणी से बातचीत में लोक नायक जय प्रकाश नारायण अस्‍पताल के डॉक्‍टर नरेश गुप्‍ता ने कहा कि ऐसा कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है कि तापमान बढ़ने से कोरोना वायरस का संक्रमण रूक जाएगा।


खांसने के समय ऐसा खांसना, छींकना चाहिए कि दूसरे के ऊपर नहीं जाये। टीसु पेपर रखिए, रूमाल रखिए, कोहनी रखिए बचाव करें, जब हम खांसते, छींकते हैं तो एक से दो मीटर तक वो जा सकती है। अगर आप पहले ही एक दो मीटर का फासला बनाके रखेंगे, तो आपके पास पहुंचने का अंदेशा बहुत कम हो जायेगा। जो कान्‍टेक्‍ट ट्रांसमिशन की बात आई, फोरमेलिटि उसके लिए हम कहते हैं कि आप हाथ साफ करें, हाथ अगर आप धोते रहेंगे तो उसमे जो वायरस है वो साबुन पानी के द्वारा निकलता रहेगा और उसके साथ-साथ अगर जरूरत समझें अगर पानी नहीं हो तो आप सेनिटाइजर का इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं।

-----

आकाशवाणी का समाचार सेवा प्रभाग आज अपने फोन इन कार्यक्रम में कोविड-19 पर विशेष परिचर्चा प्रसारित करेगा। वरिष्‍ठ मनोचिकित्‍सक और परामर्शदाता डॉक्‍टर अवधेश शर्मा इस परिचर्चा में भाग लेंगे। श्रोता टोल फ्री नंबर 1 8 0 0 - 1 1 - 5 7 6 7 पर स्‍टूडियो में मौजूद विशेषज्ञों से सवाल पूछ सकते हैं। आप हमारे स्‍टूडियो में 0 1 1 - 2 3 3 1 - 4 4 4 4 पर भी कॉल कर सकते हैं।

-----

देश के नागरिकों ने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया है कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व में एनडीए सरकार कोविड-19 से उत्‍पन्‍न संकट से कारगर तरीके से निपट रही है। हाल ही में, एक मीडिया संगठन के सर्वेक्षण के अनुसार लगभग 83 प्रतिशत लोगों का मानना है कि सरकार स्थिति से अच्‍छे तरीके से निपट रही है। भारत उस तालिका में पहले स्‍थान पर है जहां की जनता कोविड-19 महामारी से निपटने में सरकार के प्रयासों से संतुष्‍ट है। हमने देशभर के विभिन्‍न वर्गों के लोगों से बात की जिन्‍होंने संकट की इस घडी में प्रधानमंत्री के साथ एकजुटता दिखाई है।


नमस्‍ते में नाम वंदना उन्‍नयाल है और मैं उत्‍तराखंड से हूं। और मैं हमारे सेंट्रल गर्वमेंट और प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी जी को पूरे हिन्‍दुस्‍तान को एकजुट करने और कोरोना जैसी घातक महामारी से लड़ने और तैयार करने के लिए उन्‍हें धन्‍यवाद कहना चाहती हूं। समय-समय पर उन्‍होंने लोगों से आ के बात की। उन्‍हें इस महामारी के प्रति जागरूक किया।


मैं शहमीन अनवर एसोसिएट डायरेक्‍ट मार्केटिंग एंटरटेंमेंट सिटी हमारी जनरेशन ने इतने गंभीर हालात पहली बार ही देखे हैं। सारी दुनिया इस वक्‍त कोरोना वायरस से लड़ रही है। जबरदस्‍त तरीके से, सबसे बड़ी बात मुझे जो तसल्‍ली लगती है कि देश हमारा इस वक्‍त एक बहुत ही स्‍ट्रोंग प्राइमिनिस्‍टर के हाथ में है। बहुत स्‍ट्रोंग लीडरशिप है। जब हम इस संकट से निकल आएंगे तो सबसे कम नुकसान भारत में ही दिखेगा।


मेरा नाम श्‍वेता सोढ़ी है, मैं असम से हूं, फिलहाल में हावड़ा वेस्‍ट बेंगाल में रहती हूं। हमारे प्रधानमंत्री श्री मोदी जी और हमारी केन्‍द्र सरकार एकजुट होकर इस महामारी से जूझने की तैयारी कर रही है और हमें बचाने के लिए तत्‍पर खड़ी है। अब ये हमारी बारी है कि हम घर पर रहें, पॉजिटिवनेस फैलाएं और जो भारत सरकार ने लॉकडाउन का आदेश दिया है सफल बनाएं ताकि हम इस महामारी से जीत सकें।


मेरा नाम सुमन कुमार है, मैं बिहार के मध्‍यपूरा जिले के जोरावर गांव का रहने वाला हूं। मैं इस वैश्विक महामारी कोरोना के खिलाफ प्रिय प्रधानमंत्री के पूरे देश में लॉकडाउन के निर्णय का पूर्ण समर्थन करता हूं। पूर्ण विश्‍वास है कि प्रधानमंत्री के इस कठोर निर्णय से कोरोना की हार होगी और भारत की जीत होगी।


मेरा नाम उर्मिला तोठी है, मैं कलकत्‍ता में बांधा घाट में रहती हूं। हमारे प्रधानमंत्री जी के माध्‍यम से हमें ईश्‍वर की कृपा प्राप्‍त हो रही है। ईश्‍वर जो कुछ करता है अच्‍छा ही करता है। मानव तू परिवर्तनद से काहे को डरता है।

-----

केंद्र सरकार ने कहा है कि सोशल मीडिया के एक वर्ग में ऐसी खबरें आ रही है जिसमें कोविड-।9 के नियंत्रण के लिए लॉकडाउन की अवधि को लेकर विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की प्रक्रियाओं का उल्‍लेख किया जा रहा है। सरकार ने ऐसी फर्जी खबरों का खंडन किया है।

-----

उप-राष्‍ट्रपति एम.वेंकैया नायडू ने कहा है कि सोशल मीडिया पर गलत सूचना भी वायरस ही है, जिसे रोके जाने की जरूरत है। उन्‍होंने कहा कि अफवाहों और गलत सूचना को रोकने के लिए प्रमाणिक सूचना का मुक्‍त प्रवाह आवश्‍यक है, क्‍योंकि समस्‍या की व्‍यापकता को समझे बिना वायरस संकट से मुक्ति संभव नहीं है।

-----

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज ऑस्‍ट्रलिया के प्रधानमंत्री स्‍कॉट मॉरीसन से फोन पर बात कीं। दोनों नेताओं के बीच कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए अपनी-अपनी सरकारों द्वारा किये गये उपायों पर चर्चा हुई। दोनों नेता इस स्‍वास्‍थ्‍य संकट के संबंध में आपसी अनुभव को सांझा करने और मिलकर अनुसंधान करने पर सहमत हुए।

-----

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को कोरोना के इलाज के लिए लंदन के एक अस्‍पताल में भर्ती किया गया है। श्री जॉनसन 10 दिन पहले कोरोना पॉजिटिव पाये गये थे। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री कार्यालय ने कल बताया कि श्री जॉनसन को डॉक्‍टर की सलाह पर एहतियात के तौर पर अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। प्रवक्‍ता के अनुसार, प्रधानमंत्री ने लोगों से कहा है कि वे घर में ही रहने की सरकार की सलाह पर अमल करें।

इस बीच, ब्रिटेन सरकार ने कहा है कि प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की सेहत में सुधार है। आवासन और समुदाय विकास मंत्री रॉबर्ट जैनरिक ने कहा कि श्री जॉनसन कोविड-19 महामारी  मामलों के प्रभारी बने हुए हैं और उनके जल्‍दी ही सामान्‍य कामकाज संभाल लेने की संभावना है।

-----

जम्‍मू कश्‍मीर में कुपवाडा जिले के किरेन सैक्‍टर में रंगदोरी के जंगलों में सीमा पार से घुस आए आतंकी समूह और सुरक्षाबलों के बीच कल हुई मुठभेड में पांच सैन्‍यकर्मी शहीद हो गये। मुठभेड़ में पांच आतंकी मारे गये। रक्षा प्रवक्‍ता ने बताया कि देर शाम श्रीनगर के बादामी बाग स्थित बेस अस्‍पताल में दो अन्‍य सैनिक भी शहीद हो गये। इससे पहले गोलीबारी में तीन सैनिक शहीद हुए थे। कल उत्‍तरी कश्‍मीर के किरेन सैक्‍टर में घुसपैठ रोधी अभियान के तहत चौकस सैनिकों ने सीमा पार से घुसपैठ की कोशिश कर रहे पांच आतंकियों को मार गिराया था।

-----

राष्‍ट्रपति, उपराष्‍ट्रपति और प्रधानमंत्री ने महावीर जयंती के अवसर पर देशवासियों को बधाई दी है। राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर कहा कि भगवान महावीर की सत्‍य और अहिंसा की शिक्षा आज भी प्रासंगिक है। उपराष्‍ट्रपति एम.वेंकैया नायडू ने कहा कि भगवान महावीर करिश्‍माई और प्रभावी अध्‍यात्मिक हस्तियों में थे। हमें करूणा और सहानुभूति के माध्‍यम से भाईचारे और मानवता के उनके संदेश का प्रसार करने की आवश्‍यकता है।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि भगवान महावीर का जीवन सत्‍य, अहिंसा और सादगी पर आधारित था।

-----

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 29 (May) Midday News 29 (May) News at Nine 28 (May) Hourly 29 (May) (1600hrs)
समाचार प्रभात 29 (May) दोपहर समाचार 29 (May) समाचार संध्या 28 (May) प्रति घंटा समाचार 29 (May) (1305hrs)
Khabarnama (Mor) 29 (May) Khabrein(Day) 29 (May) Khabrein(Eve) 28 (May)
Aaj Savere 29 (May) Parikrama 29 (May)

Listen Programs

Market Mantra 28 (May) Samayki 28 (May) Sports Scan 23 (Mar) Spotlight/News Analysis 28 (May) Samachar Darshan 22 (Mar) Radio Newsreel 21 (Mar)
    Public Speak

    Country wide 12 (Mar) Surkhiyon Mein 10 (May) Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar) Vaad-Samvaad 17 (Mar) Money Talk 17 (Mar) Current Affairs 6 (Mar)
  • Money Matters 22 (Mar)
  • International News 22 (Mar)
  • Press Review 23 (Mar)
  • From the States 23 (Mar)
  • Let's Connect 22 (Mar)
  • 360°- Ek Parivesh 23 (Mar)
  • Know Your Constitution 30 (Jan)
  • Ek Bharat Shreshta Bharat 22 (Mar)
  • Sanskriti Darshan 23 (Mar)
  • Fit India New India 23 (Mar)
  • Weather Report 21 (Mar)
  • North East Diaries 22 (Mar)
  • 150 Years of Bapu 22 (Mar)
  • Sector Specific Discussions 22 (Mar)