मुख्य समाचार
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों का जीवन बचाने और देश की अर्थव्‍यवस्‍था में स्थिरता लाने के लिए सरकार की प्रतिबद्धता दोहराई            प्रधानमंत्री का वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला में भारत की हिस्‍सेदारी बढाने के लिए मजबूत स्‍थानीय आपूति श्रृंखला विकसित करने का आहवान            कोविड-19 से स्‍वस्थ होने की दर बढकर 48 प्रतिशत से अधिक हुई            फ्रांस ने कोविड-19 महामारी से उत्पन्न चुनौतियों के बावजूद भारत को राफाल विमानों की समय से आपूर्ति कराने की प्रतिबद्धता दोहराई।            चक्रवाती तूफान निसर्ग के लिए एनडीआरएफ की टीमें गुजरात और महाराष्ट्र में तैनात। प्रधानमंत्री ने हरसंभव सहायता का आश्वाासन दिया।           

Text Bulletins Details


समाचार संध्या

2045 HRS
08.04.2020

मुख्य समाचार:-


  • प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने विभिन्‍न राजनीतिक दलों के नेताओं से बातचीत की। कहा- कोविड-19 महामारी सामाजिक आपातकाल है।

  • प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा- सरकार की प्राथमिकता प्रत्‍येक व्‍यक्ति का जीवन बचाना है।

  • कई राज्‍यों और विशेषज्ञों ने केन्‍द्र से लॉकडाउन की अवधि बढाने को कहा। प्रधानमंत्री, सभी मुख्‍यमंत्रियों से शनिवार को चर्चा करेंगे।

  • कोविड-19 से निपटने के लिए अस्‍पताल बनाने, संक्रमित लोगों का पता लगाने और निगरानी पर जोर।

  • सरकार ने पांच लाख रुपये तक की राशि के लम्बित आयकर रिफंड तत्‍काल जारी करने का फैसला किया। वस्‍तु और सेवा कर तथा सीमा शुल्‍क भी जारी किया जाएगा।

------------------

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने देश में कोविड-19 महामारी से उत्‍पन्‍न स्थिति को सामाजिक आपातकाल बताते हुए कहा है कि सरकार की प्रथामिकता प्रत्‍येक व्‍यक्ति का जीवन बचाना है। श्री मोदी ने कहा कि देश कड़े फैसले करने को विवश हो गया है और निगरानी जारी रखनी होगी। संसद में वीडियो कॉन्‍फेंस के जरिये राजनीतिक दलों के नेताओं से बातचीत में उन्‍होंने कहा कि कई राज्‍यों की सरकारों, जिला प्रशासनों और विशेषज्ञों ने लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने का सुझाव दिया है। उन्‍होंने कहा कि इन बदलती परिस्‍थितियों में देश को अपनी कार्य संस्‍कृति और काम करने की शैली में बदलाव की कोशिश करनी चाहिये। 


प्रधानमंत्री ने कहा कि देश कोविड-19 महामारी के कारण गंभीर आर्थिक चुनौतियों का सामना कर रहा है और सरकार इन से बाहर निकलने के लिए प्रतिबद्ध है।


पूरी दुनिया के लिये कोविड-19 की चुनौती का उल्‍लेख करते हुए श्री मोदी ने कहा कि वर्तमान स्थिति मानवता के इतिहास में युगांतरकारी घटना है और भारत को इसके दुष्‍प्रभाव से निपटना होगा। उन्‍होंने महामारी से लड़ाई में केन्‍द्र के साथ मिलकर काम करने के राज्‍य सरकारों के प्रयासों की सराहना की। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश इस लड़ाई का सामना करने की समाज के सभी वर्गों की एकजुटता के जरिये रचनात्‍मक और सकारात्‍मक राजनीतिक व्‍यवस्‍था का साक्षी बना है। श्री मोदी ने सामाजि‍क दूरी बनाये रखने, जनता कर्फ्यू या लॉकडाउन का पालन करने जैसे प्रयासों में प्रत्‍येक नागरिक के योगदान के साथ अनुशासन, समर्पण और प्रतिबद्धता की भावना की प्रशंसा की।


प्रधानमंत्री ने कहा कि उभरती स्थिति के कई प्रभाव होंगे जैसा हमने संसाधनों पर दबाव के रूप में देखा है। उन्‍होंने कहा कि भारत कुछ ऐसे देशों में शामिल है जिन्‍होंने अब तक वायरस के फैलने की गति को काबू में रखा है। श्री मोदी ने चेतावनी दी कि स्थिति निरंतर बदल रही है और हमें हर समय सतर्क रहने की जरूरत है। हमारे संवाददाता ने खबर दी है कि विभिन्‍न राजनीतिक दलों के नेताओं ने अब तक किये गये उपायों पर प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त की और नीतिगत सुझाव दिये तथा भविष्‍य के उपायों पर चर्चा की।


बैठक के दौरान सभी राजनतिक दल के नेताओं ने प्रधानमंत्री द्वारा, इस महामारी को रोकने के लिए समय रहते कार्यों की सराहना की। नेताओं ने प्रधानमंत्री को आश्‍वासन दिया कि संकट की घड़ी में पूरा देश उनके साथ है। बैठक में स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों के मनोबल को बढ़ाने, कोरोना वायरस की जांच, सुविधाओं में और वृद्धि और छोटे राज्‍यों को भूख और कुपोषण जैसी समस्‍याओं से लड़ने के लिए केन्‍द्र सरकार की मदद जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई। इस महामारी से लड़ने के लिए आर्थिक और अन्‍य नीतिगत उपायों पर भी नेताओं ने अपनी राय रखी। साथ ही राजनीतिक दलों ने लॉकडाउन को आगे बढ़ाने और इसे चरणबद्ध तरीके से खत्‍म करने का सुझाव दिया। दिवाकर, आकाशवाणी समाचार, दिल्‍ली।


बैठक में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद, शिवसेना नेता संजय राउत, डीएमके नेता टी आर बालू, राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के शरद पवार, जनता दल युनाइटेड के राजीव रंजन सिंह, लोक जनश‍क्ति पार्टी के चिराग पासवान, समाजवादी पार्टी के प्रोफेसर रामगोपाल यादव और बहुजन समाज पार्टी के सतीश चंद्र मिश्रा  सहित अनेक नेताओं ने भाग लिया।


प्रधानमंत्री कोविड-19 से उत्‍पन्‍न स्थि‍ति पर सभी राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों के साथ शनिवार को बातचीत करेंगे। श्री मोदी पहले भी दो बार मुख्‍यमंत्रियों से चर्चा कर चुके हैं।

------------------

सरकार ने कहा है कि देश में संक्रमण के मामले बढ़ रहे है और इससे निपटने के प्रयास और तैयारी बढ़ा दी गई है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय में संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने आज नई दिल्‍ली में बताया कि गंभीर मामलों के लिये समर्पित हेल्‍थ केयर सेंटर और अस्‍पताल बनाये जा रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि केन्‍द्र ने राज्‍यों से अस्‍पताल बनाने और संक्रमति लोगों के संपर्क में आये लोगों का पता लगाने और निगरानी के प्रयास जारी रखने को कहा है।


चेन ऑफ ट्रांसमिशन को तोड़ने के लिए सेंट्रल गवरमेंट और राज्‍य सरकार में  सीरिज़ ऑफ मेजर्स लिये जा रहे हैं। जैसे-जैसे देश में केसेस की संख्‍या बढ़ रही है। उसी के साथ जो रिस्‍पान्‍स हैं वो भी उसी से कमिसरेट रूप में हम बढ़ाते जा रहे हैं। हमारे प्रीपेयर्डनेस में उसी तरह से हम बढ़ाते जा रहे हैं।  


श्री अग्रवाल ने कहा कि कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए सरकार ने एक इंटीग्रेटिड ऑनलाइन पोर्टल की शुरूआत की है।


फील्‍ड लेवल पर ओरिएंटेशन एंड ट्रेनिंग एक बहुत इन्‍पोडेंट कम्‍पोनेंट है। जबकि हम कोविड-19 को पूरे देशव्‍यापी लेवल पर मॉनिटर करना चाहते हैं। तो उसी के तहत मिनिस्‍ट्री ऑफ ह्यूमन रिसॉर्स एंड डवलेपमेंट ने कोविड-19 मैनेजमेंट के लिए एक ट्रेनिंग मॉडल लॉंच किया है, जिसका नाम है इंटीग्रेटिड गवरमेंट ऑनलाइन ट्रेनिंग पोर्टल। जिसमें कि फ्रंटलाईन वर्कर्स की कैपेसिटी बिल्डिंग के बारे में उनको रिक्‍वार्ड रिर्सोसेस प्रोवाईड की जायेगी। इस प्‍लेटफार्म के द्वारा डाक्‍टर्स, नर्सेस, पेरामेडिस टेक्‍निशियन्‍स, एएनएम और साथ ही राज्‍य के जितने अधिकारीगण हैं, सिविल डिफेंस आफिसियल्‍स हैं, नेशनल कैडिट कोर के जो हमारे वॉलियन्‍टर्स हैं, नेशनल सर्विस स्‍कीम के वॉलियन्‍टर्स, रेड क्रॉस सोसायटी और जितने भी वॉलियन्‍टर्स हैं उनको भी रिक्‍वार्ड रिर्सोसेस प्रोवाइड की जायेगी। 

 

श्री अग्रवाल ने कहा कि देश में हाइड्रोक्‍सी क्‍लोरोक्‍वीन का प्रयाप्‍त भंडार है।


गृह मंत्रालय में संयुक्‍त सचिव पुण्‍य सलिला श्रीवास्‍तव ने कहा कि केन्‍द्र ने पंजीकृत भवन निर्माण कामगारों के लिए एक हजार से छह हजार रुपये के नकद लाभ की घोषणा की है। उन्‍होंने कहा कि इसके तहत अब तक दो करोड़ कामगारों को तीन हजार करोड़ रुपये दिये गये हैं।


साढ़े तीन करोड़ पंजीकृत बिल्डिंग एंड कंस्ट्रक्शन वर्कर्स को सहायता देने के लिए राज्य सरकारों को आदेश दिया गया था कि वे बिल्डिंग एंड कंस्ट्रक्शन वर्कर्स वेलफेयर फंड का उपयोग करें इस कोष में लगभग 31 हजार करोड की राशि उपलब्ध है राज्य सरकार ने इस निर्देश का कार्यान्वयन आरंभ कर दिया है 31 स्टेट्स और यूटीस में 1000 रूपये से लेकर 6000 रूपये  तक की कैश बेनिफिट्स अनाउंस किए हैं। दो करोड़ से ज्यादा श्रमिकों को लगभग 3000 करोड़ की राशि दी गई है।


उन्‍होंने कहा कि लॉकडाउन को कड़ाई से लागू कराने के लिए कई कदम उठाये गये हैं।


राज्‍य सरकारें लॉकडाउन के इन्‍फोर्समेंट में लगी हुई है। हॉटस्‍पॉट्स लॉकडाउन मेजर्स को राज्‍य सरकारों द्वारा और भी बढ़ा दिया गया है। पुलिस द्वारा निगरानी और भी इन्‍टेंसिव हो रही है। खासकर उन लोकोलिटीज़ में कम्‍युनिटी लीडर की मदद से लोगों के बीच जागरूकता बढ़ाई जा रही है। मार्केट्स में, बाजारों में बैकों में जिला प्रशासनों ने सोशल डिस्‍टेंसिंग रखने के लिए कई कदम उठाये हैं। एसेंशियल कोमोडिटीज़ और सर्विसिज़ की स्थिति संतोषजनक हैं। संभावना है कि कुछ लोग ब्‍लैक मार्केटिंग अथवा होडिंग करें। होम सक्रेटेरी ने सभी चीफ सेक्रेटरिज़ को लिखा है कि वे एसेंशियल कोमोडिटी एक्‍ट 1955 के प्रावधानों का उपयोग करते हुए यह सुनिश्चित करें कि एसेंशियल गुड्स उपलब्‍ध रहें।


भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद के मुख्‍य वैज्ञानिक रमन गंगाखेरकर ने कहा कि देश में अब तक एक लाख 21 हजार से अधिक जांच की गई है।


आज तक हमने एक लाख 33 हजार 271 टेस्‍ट किये हैं। उनमें अगर कल का अगर आप देखें तो  13,345 टेस्‍ट हुए हैं, जिसमें प्राईवेट लैब्‍स में 2,267 टेस्‍ट हुए हैं और अभी इस वक्‍त 139 लैब्‍स आईसीएमआर नेटवर्क में एक्टिव हो गई हैं और 65 प्राईवेट लैब्‍स को हमने परमिट किया है।  


इस बीच, देश में कोविड-19 महामारी से संक्रमित लोगों की संख्‍या पांच हजार दो सौ 74 हो गई है। पिछले 24 घंटे में चार सौ 85 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। अब तक चार सौ 11 लोगों को उपचार के बाद छुट्टी दी गई जबकि एक सौ 49 लोगों की मृत्‍यु हुई।

------------------

उच्‍चतम न्‍यायालय ने कहा है कि सरकारी और गैर-सरकारी-सभी प्रयोगशालाओं में कोरोना मरीजों के नमूनों की जांच मुफ्त होनी चाहिए। न्‍यायालय ने केंद्र सरकार को इस संबंध में तुरंत आदेश जारी करने का निर्देश दिया है। न्‍यायालय ने कहा कि राष्‍ट्रीय संकट की इस घड़ी में महामारी को रोकने में गैर-सरकारी अस्‍पतालों और प्रयोगशालाओं की भूमिका महत्‍वपूर्ण हो गई है।


न्‍यायमूर्ति अशोक भूषण और एस रविंद्र भाट की पीठ ने वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के ज़रिए सुनवाई करते हुए कहा कि कोरोना वायरस की जांच राष्‍ट्रीय मान्‍यता प्राप्‍त प्रयोगशालाओं अथवा विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन या भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद द्वारा अनुमोदित एजेंसियों में की जानी चाहिए।


पीठ ने यह आदेश एक वकील की जनहित याचिका पर जारी किया, जिसमें सभी नागरिकों के लिए कोरोना की जांच निशुल्‍क करने का आदेश केंद्र और अन्‍य प्राधिकरणों को देने का अनुरोध किया गया था। पीठ ने कहा कि किसी व्‍यक्ति को 45 सौ रुपये का भुगतान न करने की स्थिति में कोरोना की जांच से वंचित नहीं किया जा सकता।

------------------

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से आरोग्‍य सेतु मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की अपील की है। उन्‍होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से निपटने में यह ऐप एक महत्‍वपूर्ण कदम है। यह ऐप महत्‍वपूर्ण सूचना उपलब्‍ध कराता है और जितने अधिक लोग इसका उपयोग करेंगे, यह उतना ही प्रभावशाली होता जाएगा। ये कोविड-19 से मुकाबले के‍ लिए देश की जनता को एकजुट रखने में मददगार बनेगा। इसका उपयोग कर लोग संक्रमित होने की आशंका का आकलन कर सकेंगे। यह ऐप दूसरे लोगों के साथ सम्‍पर्क के आधार पर संक्रमण के जोखिम का आकलन करता है।

------------------

सरकार ने पांच लाख रुपये तक की राशि के लम्बित आयकर रिफंड तत्‍काल जारी करने का फैसला किया है। इससे लगभग 14 लाख करदाताओं का लाभ होगा। सरकार ने सभी लम्बित जीएसटी और सीमा शुल्क रिफंड की राशि भी तत्काल जारी करने का निर्णय किया है। इससे सूक्ष्‍म, मध्‍यम और लघु उद्यम सहित लगभग एक लाख छोटे व्‍यवसायों को लाभ होगा। रिफंड की यह कुल राशि 18 हजार करोड़ रूपये के लगभग होगी। कोविड-19 महामारी की स्थिति को देखते हुए सरकार ने करदाताओं और व्यापारियों को तत्काल राहत पहुंचाने के लिए यह निर्णय किया है।

------------------

जनजातीय कार्य मंत्री अर्जुन मुंडा ने 15 राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों को पत्र लिखकर कहा है कि वे नोडल एजेंसियों को न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य पर लघु वन उत्‍पादों की यथाशीघ्र खरीद का निर्देश दें। ये राज्‍य हैं- उत्‍तर प्रदेश, गुजरात, मध्‍य प्रदेश, कर्नाटक, महाराष्‍ट्र, असम, आन्‍ध्र प्रदेश, केरल, मणिपुर, नगालैण्‍ड, पश्चिम बंगाल, ओडिसा, छत्‍तीसगढ़ और झारखण्‍ड ।


श्री मुंडा ने कहा क‍ि कई क्षेत्रों में लघु वन उत्‍पादों या काष्‍ठेतर वन उत्‍पादों के संग्रहण का यही उपयुक्‍त समय है। इसे देखते हुए, इनकी खरीदारी को बढ़ावा देना ज़रूरी है क्‍योंकि यह जनजातीय लोगों की अर्थव्‍यवस्‍था और आजीविका से जुड़ा मुद्दा है।

------------------

प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र के दवा विक्रेता, मरीजों और बुजुर्गों को प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना के अंतर्गत आवश्यक सेवाएं और दवाइयां उनके घरों तक पहुंचा रहे हैं। हमारे संवाददाता ने बताया कि इस पहल से सामाजिक दूरी रखने में मदद मिलेगी। 


लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केन्‍द्र अनिवार्य दवाओं की उपलब्‍धता सुनिश्चित करने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। इन केन्‍द्रों में देश के आम लोगों और बुजुर्गों के दरवाजों तक किफायती दामों पर गुणवत्‍तापूर्ण जेनेरिक दवाएं उपलब्‍ध करा रहे हैं। देशभर के 726 जिलों में 6300 से अधिक जन औषधि केन्‍द्र काम कर रहे हैं। जन औषधि सुगम ऐप का उपयोग कर कोई भी व्‍यक्ति अपने नजदीकी केन्‍द्र, दवाओं की उपलब्‍धता और उसकी कीमत का पता लगा सकता है। इस ऐप को गुगल प्‍ले या आईफोन स्‍टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना भी अपने सोशल मीडिया प्‍लेटफार्म के माध्‍यम से लोगों में जागरूकता पैदा कर रहा है। ताकि लोगों को कोरोना वायरस से बचाने में मदद मिल सके। दीपेन्‍द्र कुमार आकाशवाणी समाचार, दिल्‍ली।

------------------

केन्‍द्र सरकार ने पूर्णबंदी के दौरान मेडिकल उपकरणों की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए कई कदम उठाये हैं। हमारे संवाददाता ने बताया है कि रेलवे व्‍यक्तिगत प्रतिरक्षण उपकरण के उत्‍पादन के लिए युद्धस्‍तर पर काम कर रहा है।


रेलवे की विभिन्‍न वर्कशॉपों ने प्रत्‍येक दिन एक हजार पीपीई का उत्‍पादन करने की तैयारी कर ली है। रेलवे डॉक्‍टर्स और पैरा-मेडिक्‍स के लिए तैयार किए जाने वाले इन पीपीई  के उत्‍पादन में भविष्‍य में और तेजी लाई जाएगी। रेलवे देश के अन्‍य चिकित्‍सा पेशेवरों को भी 50 प्रतिशत पीपीई सामग्री की आपूर्ति करने पर विचार कर रहा है। रेलवे की जगादरी कार्यशाला द्वारा निर्मित पीपीई को हाल ही रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन की प्रयोगशाला ने मंजूरी दी है। स्‍वीकृत डिजाइन और सामग्री का उपयोग अब विभिन्‍न क्षेत्रों में स्थित 17 रेलवे कार्यशालाओं द्वारा पीपीई बनाने के लिए किया जाएगा। यह पीपीई उन रेलवे के डॉक्‍टर्स और पैरा-मेडिक्‍स को आवश्‍यक सुरक्षा प्रदान करेगा जो कि कोरोना रोगियों के इलाज में जुटे हुए हैं। सुर्पणा सेकिया के साथ भूपेन्‍द्र सिंह आकाशवाणी समाचार, दिल्‍ली।

------------------

रेलवे दो हजार से अधिक डॉक्‍टर और 35 हजार पैरामेडिक स्‍टाप और तैनात करेगी। रेल मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने बताया कि रेलवे अस्‍पतालों में 17 समर्पित अस्‍पतालों और 33 अस्‍पताल ब्‍लॉक में लगभग पांच हजार बिस्‍तर केवल कोविड-19 रोगियों के उपचार के लिए निर्धारित किये गये हैं। रेलवे के समस्‍त नेटवर्क में 11 हजार क्‍वारंटीन बिस्‍तर उपलब्‍ध कराये गये हैं। रेलवे ने व्‍यक्तिगत सुरक्षा किट का निर्माण भी शुरू कर दिया है। अभी लगभग एक हजार किट रोजाना बनाने का प्रयास किया जा रहा है जिसे बाद में और बढ़ाया जायेगा। रेलवे कोविड-19 के लिये 80 हजार बिस्‍तरों के साथ देशभर में रेलगाडियों के पांच हजार डिब्‍बों को आइसोलेशन सुविधा में बदल रही है। 

------------------

प्रधानमंत्री के सम्‍मान में पांच मिनट खडे होने की कुछ खबरों के संबंध में श्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि पहली नज़र में यह उन्‍हें विवाद में घसीटने का दुर्भावनापूर्ण प्रयास लगता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर ऐसा अभियान चलाने वाले लोगों को सचमुच मुझसे प्‍यार है और मेरा सम्‍मान करते हैं तो उन्‍हें कोविड-19 महामारी के दौरान कम से कम एक गरीब परिवार की जिम्‍मेदारी उठानी चाहिये। श्री मोदी ने कहा कि इससे बढ़कर उनके लिये और कोई सम्‍मान नहीं हो सकता। प्रधानमंत्री के यह ट्वीट उन खबरों के बाद आये जब सोशल मीडिया पर इस तरह की खबरें देखी गईं कि रविवार को नागरिकों को पांच मिनट खडे होकर श्री नरेन्‍द्र मोदी का सम्‍मान करना चाहिऐ।

------------------

सरकार ने उन रिपोर्टों का खंडन किया है, जिसमें कहा गया है कि कोविड-19 के कारण सभी होटल और रेस्त्रां 15 अक्तूबर 2020 तक बंद रहेंगे। पत्र सूचना कार्यालय ने कहा है कि इस संबंध में सोशल मीडिया में चल रही खबरें निराधार हैं और पर्यटन मंत्रालय ने इस तरह का कोई आदेश जारी नहीं किया है। 

------------------

महाराष्‍ट्र में कोरोना के मरीजों की संख्‍या बढ़कर एक हजार एक सौ 35 हो गई है। एक सौ सत्रह रोगियों को संक्रमण-मुक्‍त हो जाने के बाद छुट्टी दे दी गई है। अभी कोरोना का प्रसार सामुदायिक स्‍तर पर नहीं हुआ है और इस बीमारी से राज्‍य में 66 लोगों की मौत हुई है।


हमारे संवाददाता ने बताया है कि मुम्‍बई और पुणे में मास्‍क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है।


एक वीडियो संदेश में नागरिकों को संबोधित करते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सभी से मास्‍क इस्तेमाल करने का आग्रह किया उन्होंने स्पष्ट किया कि मास्‍क एन 95 या सर्जिकल होने की जरूरत नहीं बल्कि एक कपड़ा जो मुंह या नाक को पूरी तरीके से ढक सके वह भी काफी होगा उन्होंने यह भी बताया कि राज्य सरकार कोविड-19 से पीड़ित रोगियों का इलाज तीन विभिन्न अस्पतालों में किया जाएगा पहले वह अस्पताल है जिसमें रोगियों के लक्षण हल्के हैं और दूसरे में गंभीर लक्षणों वाले और तीसरे में उन मरीजों का जिन्हें मधुमेह उच्च रक्तचाप कृपया गुर्दे की बीमारी से पीड़ित हैं वूहान का उदाहरण देते हुए श्री ठाकरे ने आगे कहा कि नागरिकों को सख्ती से लोग जो उनका पालन करना चाहिए ताकि इस बीमारी का प्रसार प्रतिबंधित हो सके कुणाल शिंदे आकाशवाणी समाचार मुंबई।

------------------

राजस्थान में आज 20 नए मामले सामने आने से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ कर 363 हो गई है। इस बीच, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रबी फसलों की खरीद हेतु महत्वपूर्ण निर्णय के लिए मंत्रियों और अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के जरिए बातचीत की। हमारे संवाददाता ने बताया है कि इस बातचीत में किसानों को ध्‍यान में रखते हुए कई निर्ण्‍ाय लिये गये हैं।


प्रदेश में 15 अप्रैल से चरणबद्ध तरीके से न्यूनतम समर्थन मूल्य तथा खुली खरीद प्रणाली से जिंसों की खरीद शुरू करने का फैसला किया गया है। राज्य में कृषि उपज मंडियों सहित चरणबद्ध तरीके 800 स्थानों पर खरीद शुरू होगी। मुख्यमंत्री ने खरीद केंद्रों और मंडियों में सोशल डिस्टेंसिंग संबंधी प्रोटोकॉल की पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में कलस्टर बनाकर छोटी मंडियों में ग्राम सेवा सहकारी समितियों के माध्यम से भी खरीद की जायेगी। इस बीच, राज्य सरकार ने मेडिकल, खाने पीने का सामान बनाने वाली फैक्ट्रियों को बिना किसी अनुमति के शुरू करने की छूट दे दी है। खाद, पेस्टीसाइड और बीज पैंकिंग करने वाली फैक्ट्रियों को भी काम शुरू करने के लिए किसी सरकारी विभाग से अनुमति नहीं लेनी होगी। - जितेन्द्र द्विवेदी, आकाशवाणी समाचार, जयपुर।

------------------

मध्य प्रदेश सरकार ने राज्य में नोवेल कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए तत्काल प्रभाव से आवश्यक सेवा प्रबंधन अधिनियम - एस्मा लागू कर दिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि नागरिकों के हित में राज्य सरकार ने इसे लागू किया है। 


एक ट्विट संदेश के जरिये मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि राज्य में कोविड-19 प्रकोप का बेहतर तरीके से और नागरिकों के हित में प्रबंधन करने के लिए सरकार ने प्रदेश में तत्काल प्रभाव से आवश्यक सेवा प्रबंधन अधिनियम एस्मा लागू किया है। उधर, भोपाल और इंदौर राज्य में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा संक्रमित हैं। इंदौर में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर लगभग दो सौ हो गई है, जबकि भोपाल में अब तक 91 रोगी मिले हैं। वहीँ, कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण पैदा हुए आर्थिक संकट से निपटने के लिए सुझाव देने के लिए राज्य सरकार ने आज 4 सदस्यीय विशेषज्ञ समिति का गठन किया है। इसी बीच, इंदौर में लॉकडाउन के दौरान बाहर निकलने से रोकने पर पुलिसकर्मियों पर कथित रूप से थूकने के आरोप में आज दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया था। संजीव शर्मा, आकाशवाणी समाचार, भोपाल।

------------------

पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना के दो नए मरीज़ सामने आए हैं। राज्‍य के अलग-अलग अस्‍पतालों में कोरोना के 71 मरीजों का इलाज चल रहा है, जबकि तीन रोगियों को स्वस्थ होने के बाद आज अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। अभी तक सोलह रोगियों को स्वस्थ होने के बाद छुट्टी दी गई है।

------------------

पुद्दुचेरी में सरकार ने भारतीय उद्योग परिसंघ और यंग इंडियंस के सहयोग से पुद्दुचेरी के बस कॉम्‍पलेक्‍स में लोगों को सैनिटाइज करने के लिए बूथ बनाया है। मुख्‍यमंत्री वी नारायणसामी ने आज इसका औपचारिक शुभारंभ किया।

------------------

जम्‍मू-कश्‍मीर में श्रम विभाग लॉकडाउन के कारण राज्‍य में फंसे कामगारों और प्रवासियों के कल्‍याण के लिए विशेष कार्यनीति पर काम कर रहा है। इसके लिए राज्य के श्रम विभाग ने मजदूरों और कामगारों के लिए संबंधित अधिकारियों के हेल्पलाइन नम्बर जारी किए हैं।


कोविड-लॉकडाउन के कारण जम्मू कश्मीर में फंसे श्रमिकों और प्रवासियों के कल्याण को सुनिश्चित करने के लिए श्रम आयुक्त जम्मू कश्मीर अब्दुल रशीद ने कहा है कि प्रवासी मजदूरों के अच्छे मानसिक स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने के लिए प्रशासन द्वारा कई पहल किए जा रहे हैं जिनके लिए उनके परामर्श सत्र भी चल रहे हैं उन्होंने कहा कि परामर्श दाताओं ने जम्मू कश्मीर में 142 शिविरों और आश्रय केंद्रों का दौरा भी किया है जहां उन्होंने जम्मू कश्मीर के विभिन्न हिस्सों में फंसे प्रवासी मजदूरों की 5761 स्थाई आबादी को परामर्श प्रदान किया है श्रम आयुक्त ने कहा है कि 143866 बोर्ड और अन्य निर्माण श्रमिकों को प्रत्येक 1000 रूपये भी दिए गए हैं और विभाग की तरफ से अब तक 14 दशमलव 36 करोड़ रूपये भी वितरित किए गए हैं आकाशवाणी समाचार श्रीनगर से मैं सुनील कौल।

------------------

असम के मुख्‍यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने आज बराक घाटी का दौरा कर संक्रमण से निपटने की तैयारियों का जायजा लिया। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि राज्‍य सरकार ने कोरोना संबंधी किसी भी चुनौती के लिए पर्याप्‍त तैयारियां की हैं।


उन्‍होंने लोगों से समाज या सोशल मीडिया में फैलने वाली अफवाहों से दूर रहने को कहा है।

------------------

उत्‍तरप्रदेश में वाराणसी में प्रतिवर्ष आयोजित संकट मोचन मंदिर में होने वाला संगीत महोत्‍सव अब डिजीटली उपलब्‍ध होगा।


वाराणसी के प्रसिद्ध संकट मोचन मंदिर का 97वां संकट मोचन संगीत समारोह इस बार अनूठे अंदाज में आयोजित होगा। इस छह दिनों तक चलने वाले वार्षिक संगीत समारोह में इस बार डिजिटल तरीके से कलाकार अपनी प्रस्तुति देंगे। पंडित जसराज, अजय पोहनकर, उस्ताद राशिद खान और कई अन्‍य मशहूर कलाकार भी इस अंदाज में प्रस्तुति देने के लिए सहर्ष तैयार हो गये हैं। मंदिर के महंत प्रो विशंभर नाथ मिश्र ने आकाशवाणी को बताया-(बाइट) लॉकडाउन की वजह से लोगों का इकट्ठा होना भले ही संभव न हो लेकिन तकनीक ने संगीत प्रेमियों और भक्तों के लिए इन नामचीन कलाकारों को सीधे सुन पाने का रास्ता सहज बना दिया है। आकाशवाणी के लिए सुशील चंद्र तिवारी।

------------------

आकाशवाणी से विशेषज्ञों की सलाह श्रृंखला में कोविड 19 के बारे में वरिष्ठ चिकित्सा विशेषज्ञों की राय प्रसारित की जा रही है।


इस श्रृंखला में नई दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान-एम्स के निदेशक डॉक्‍टर रणदीप गुलेरिया ने कहा कि कोविड-19 को फैलने से रोकने के वास्ते लोगों को मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए अपने घरों में अलग अलग गतिविधियों में स्वयं को व्यस्त रखना चाहिए।


घर के अन्‍दर एक एरिया बना लें जहां पर आप वॉक कर सकते हो। दूसरा इम्‍पोटेंट इश्‍यू इज मेंटल हेल्‍थ। इसमें यह बहुत जरूरी है कि हम लोग इसे सोशलाइज करें जो परिवार के लोग हैं उनके साथ इकट्ठे बैठके बात करें, कुछ इंडोर गेम्‍स खेल सकते हो, कार्डस हैं तो कार्ड खेल सकते हो, इकट्ठे बैठकर कोई टीवी पर मूवी देख सकते हो। इस टाइप की कई एक्टिविटी कर सकते हो जिसे आप सोशलाई भी कर लें। ज्‍यादा हुआ तो अपने दोस्‍तों के साथ फोन पर बात भी कर सकते हैं। चैट कर सकते हो जिससे आप अपने आपको बिजी भी रखो, मेंटली स्‍ट्रांग रखो।


नई दिल्‍ली के भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के प्रधान वैज्ञानिक डॉ. रमन गंगाखेड़कर अस्पताल में भर्ती करने की आवश्यकता है। आकाशवाणी से बातचीत में उन्होंने कहा मधुमेह जैसे रोग से पीड़ित व्यक्ति को संक्रमण का खतरा अधिक होता है।


100 में 5 लोगों को हॉस्पिटल में भर्ती होने का चांस होगा और उन 5 लोगों में से हमको शायद पांच में से 2 लोग या एक इंसान ऐसा होगा जिसको वेंटीलेटर की जरूरत पड़ेगी। ऑक्सीजन देने के लिए हमको लड़ाई करना पड़ेगा लेकिन सबसे बड़ी बात क्या है इसमें मौत का डर हम को इतना क्यों चाहिए हमें यह समझना है कि मौत का डर ज्यादा किसको होता है। जिसकी उम्र 60 साल से ऊपर है जिसको डायबिटीज या ब्लडप्रेशर  की बीमारी या उसको दमे की शिकायत है या उसको हार्ट की प्रॉब्लम है इन लोगों में हमको यह तकलीफ होने का चांस बढ़ेगा

------------------

आकाशवाणी के समाचार सेवा प्रभाग के कोविड-19 पर विशेष परिचर्चा में आज औद्योगिक अनुसंधान परिषद - सी एस आई आर के विशिष्‍ट वैज्ञानिक डॉक्‍टर मोहन राव से बातचीत प्रसारित करेगा। यह विशेष फोन इन कार्यक्रम एफएम गोल्‍ड और अतिरिक्‍त मीटरों पर रात नौ बजकर 10 मिनट से सुना जा सकता है। विशेषज्ञों से टेलीफोन नम्‍बर 1800-115767 और 011-23314444 पर सवाल पूछे जा सकते हैं।

------------------

उच्‍चतम न्‍यायालय ने केंद्र से यह सुनिश्चित करने को कहा है कि कोरोना वायरस का इलाज कर रहे चिकित्‍सा कर्मियों के लिए व्‍यक्तिगत सुरक्षा सामान पर्याप्‍त मात्रा में उपलब्‍ध रहें, क्‍योंकि इस महामारी से निपटने में उनकी भूमिका अग्रणी है। न्‍यायालय की पीठ ने चिकित्‍सा कर्मियों पर पिछले दिनों हुए हमले पर चिंता व्‍यक्‍त की। न्‍यायालय ने कहा कि सभी राज्‍य अस्‍पतालों और रोगियों वाले अन्‍य स्‍थलों पर चिकित्‍सा कर्मियों को जरूरी पुलिस सुरक्षा मुहैया कराना सुनिश्चित करें।

------------------

केन्‍द्र ने स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों और कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण और अपडेट उपलब्‍ध कराने के लिए लर्निंग प्‍लेटफार्म शुरू करने की घोषणा की है। igot.gov.in प्‍लेटफार्म पर डॉक्‍टर, नर्स, पैरामेडिक्‍स, स्‍वास्‍थ्‍य कार्यकर्ता, तकनीशियन, ऑक्‍जीलरी नर्सिंग मिडवाइव्‍स, एएनएम, केन्‍द्र और राज्‍य सरकार के अधिकारी, नेशनल केडिट कोर के जवान, एनएसएस, नेहरू युवा केन्‍द्र संगठन, भारतीय स्‍काउट और गाइड तथा भारतीय रेड क्रोस सोसाइटी के कार्यकर्ता प्रशिक्षण और जानकारी ले सकेंगे।

------------------

रेलवे ने ज़रूरी सामानों की आवाजाही सुचारू बनाए रखने के लिए नियत समय वाली पार्सल ट्रेनें शुरू की हैं। इससे आम लोगों, उद्योगों और कृषि के लिए आवश्‍यक वस्‍तुओं की उपलब्‍धता में वृद्धि होने का अनुमान है। रेलवे ने 58 मार्गों पर ऐसी एक सौ नौ पार्सल ट्रेनें शुरू की है।

------------------

जाने-माने क्रिकेट खिलाड़ी हरभजन सिंह ने कोविड-19 से निपटने के लिए लोगों से सभी सरकारी दिशा-निर्देशों का पालन करने का आग्रह किया है और घर पर ही रहने की सलाह दी है।


आप सबके सहयोग की जरूरत है हर एक नागरिक को यहां पर अगर बचाना है तो आप सबकी जिम्‍मेवारी बनती है कि आप कन्‍धे से कन्‍धा मिला के इस मुहि‍म में जुडिये, घरों में बैठिये और छोटी सी वि‍नती है मेरी आप सबसे आप स्‍वथ्‍य रहिए सुखी रहिए बट घरों में बने रहिए और सबके लिए दुआ करीये जो इस बीमारी से जूझ रहे हैं कि वो जल्‍दी से ठीक हों।


फिल्‍म अभिनेता संजय मिश्रा ने लॉकडाउन के दौरान लोगों को घर पर ही रहने के लिए कई उपाय बताए।


एक छोटी सी विनती है मेरी आप सबसे। आप स्‍वस्‍थ रहिए, सुखी रहिए बट घरों में बने रहिए और सबके लिए दुआ करिए जो इस बीमारी से जुझ रहे हैं कि वे जल्‍दी से ठीक हों और ये भी दुआ करिए कि नर्सिस, डॉक्‍टर, पुलिस वाले इस काम में जुटे हुए हैं दिन-रात अपने परिवारों को छोडकर उनके वेल बीइंग की भी आप दुआ करिए क्‍योंकि दुआएं जो हैं बहुत कुछ बदल सकती हैं और जरूर बदलेंगी और ये जंग हम जरूर इकट्ठे मिलकर जीत सकते हैं।आप प्‍लीज घर में बैठिए।

------------------

केन्‍द्रीय मंत्री डॉक्‍टर जितेंद्र सिंह ने आज दिल्‍ली में आवश्‍यक सामग्री वाले दो हजार दो सौ किट प्रशासनिक अधिकारियों को सौंपे। ये किट राजधानी में ज़रूरतमंद परिवारों को दिऐ जाएंगे। प्रत्‍येक किट में नौ सामान हैं और इनके वितरण का उद्देश्‍य ज़रूरतमंद परिवार की तात्‍कालिक मदद करना है। ये किट केंद्रीय भंडार के माध्‍यम से दिये जा रहे हैं।

------------------

ट्विटर अपडेट

समाचार सुनें

  • Morning News 3 (Jun)
  • Midday News 2 (Jun)
  • News at Nine 2 (Jun)
  • Hourly 3 (Jun) (0605hrs)
  • समाचार प्रभात 3 (Jun)
  • दोपहर समाचार 2 (Jun)
  • समाचार संध्या 2 (Jun)
  • प्रति घंटा समाचार 3 (Jun) (0600hrs)
  • Khabarnama (Mor) 3 (Jun)
  • Khabrein(Day) 2 (Jun)
  • Khabrein(Eve) 2 (Jun)
  • Aaj Savere 3 (Jun)
  • Parikrama 2 (Jun)

कार्यक्रम सुनें

  • Market Mantra 2 (Jun)
  • Samayki 2 (Jun)
  • Sports Scan 23 (Mar)
  • Spotlight/News Analysis 2 (Jun)
  • Public Speak
  • Country wide 12 (Mar)
  • Surkhiyon Mein 2 (Jun)
  • Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar)
  • Vaad-Samvaad 17 (Mar)
  • Money Talk 17 (Mar)
  • Current Affairs 6 (Mar)
  • Money Matters 22 (Mar)
  • International News 22 (Mar)
  • Press Review 23 (Mar)
  • From the States 23 (Mar)
  • Let's Connect 22 (Mar)
  • 360°- Ek Parivesh 23 (Mar)
  • Know Your Constitution 30 (Jan)
  • Ek Bharat Shreshta Bharat 22 (Mar)
  • Sanskriti Darshan 23 (Mar)
  • Fit India New India 23 (Mar)
  • Weather Report 21 (Mar)
  • North East Diaries 22 (Mar)
  • 150 Years of Bapu 22 (Mar)
  • Sector Specific Discussions 22 (Mar)

 

 

 

 

× All donations towards the Prime Minister's National Relief Fund(PMNRF) and the National Defence Fund(NDF) are notified for 100% deduction from taxable income under Section 80G of the Income Tax Act,1961""